शनिवार, 19 दिसंबर 2020

गौशालाओं में पानी-चारे की व्यवस्था के साथ ठंड से बचाव के उपाय भी करें,स्व-सहायता समूह की दीदी संचालित करेंगीं ग्रामीण अंचल की गौशालायें, 30 गौशालायें बनकर तैयार

गौशालाओं में पानी-चारे की व्यवस्था के साथ ठंड से बचाव के उपाय भी करें,स्व-सहायता समूह की दीदी संचालित करेंगीं ग्रामीण अंचल की गौशालायें, 30 गौशालायें बनकर तैयार

 गौशालाओं में पानी व चारे की समुचित व्यवस्था के साथ-साथ गौवंश को ठंड से बचाने के लिये पुख्ता  उपाय किए जाएं। गौवंश के लिये बने टीनशेड को ज्वार की करब एवं प्यार इत्यादि से अच्छी तरह ढककर गौवंश को ठंड से बचाने के उपाय किए जाएं। यह निर्देश जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री शिवम वर्मा ने संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा जिले की सभी जनपद पंचायतों के अंतर्गत पूर्ण हो चुकी गौशालाओं का संचालन राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित स्व-सहायता समूहों की दीदियों को विधिवत अनुबंध कर सौंपें। ज्ञात हो जिले की चारों ग्राम पंचायतों में लगभग 30 गौशालायें बनकर तैयार हो गई हैं।
    यहाँ जिला पंचायत के सभागार में संबंधित अधिकारियों एवं स्व-सहायता समूहों की बैठक सह प्रशिक्षण में निराश्रित गौवंश की देखभाल की बारीकियां सिखाई गईं। प्रशिक्षण में संबंधित ग्राम पंचायतों के सरपंच व सचिव ग्राम रोजगार सहायक और स्व-सहायता समूहों के अध्यक्ष व सचिव शामिल हुए।
    जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री वर्मा ने सहायक संचालक पशु चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवायें को निर्देश दिए कि गौशाला की शत प्रतिशत गायों का टीकाकरण और टैगिंग का काम जल्द से जल्द पूर्ण करें। उन्होने यह भी निर्देश दिए कि गौशाला परिसर में पानी के बोरवेल के समीप जल संरक्षण संरचनायें जरूर बनवाएँ। साथ ही कहा कि स्व-सहायता समूहों की आय में बढ़ोत्तरी के लिये गौशाला में गोबर की लकड़ी, दीया एवं अन्य सामग्री का निर्माण कराया जाए। श्री वर्मा ने गौशाला परिसर में चारागाह विकास पर भी विशेष बल दिया।

इन ग्राम पंचायतों में बनी हैं गौशालायें

    बैठक में बताया गया जनपद पंचायत भितरवार के अंतर्गत ग्राम पंचायत केरूआ, करहिया, डोंगरपुर, लदवाया, पवाया व कछौआ में एक – एक और हिम्मतगढ़ में 2 गौशालायें बनकर तैयार हो गई हैं। इसी तरह जनपद पंचायत घाटीगाँव के अंतर्गत बन्हेरी (रानी घाटी), पवा, उम्मेदगढ़, दौरार, पाटई, बड़ागाँव व तिघरा में गौशालायें बनाई गई हैं। जनपद पंचायत डबरा के अंतर्गत जौरासी, लखनौती, सिसगाँव, जनकपुर, धवा, कुम्हर्रा, मेहगांव में एक – एक व जनकपुर में दो गौशालायें बनाई गई हैं। जनपद पंचायत मुरार के अंतर्गत राहुली, दुहिया, बंधोली, बेहट, रतवई, बरेठा व सिरसौद में गौशालाओं का निर्माण किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी: केवल इस ब्लॉग का सदस्य टिप्पणी भेज सकता है.

हाईकोर्ट और सीनियर आई पी एस ने दर्ज कराई एफ आई आर बीस साल पहले , सरकारी धन के गबन और डकैती , भ्रष्टाचार , हरिजन एक्ट के मुलजिम न तो पकड़े और सरकार, कोर्ट ,कानून सबकी ऑंखों में धूल झोंकती रही मुरैना पुलिस

 मुरैना 15 सितंबर ( ग्वालियर टाइम्स ) लगातार 20 साल तक कोर्ट और कानून की ऑंखों में धूल झोंक कर भारी भरकम रिश्वत और भ्रष्टाचार की विष्ठा खा र...