शुक्रवार, 29 जनवरी 2021

मास्टर ट्रेनर के लिए 5 फरवरी तक आवेदन माँगे

 समेकित बाल संरक्षण योजना के तहत पोक्सो, दत्तक ग्रहण, बच्चों के मानसिक अवसाद एवं आघात के संबंध में विशेषज्ञ मास्टर ट्रेनर्स द्वारा प्रशिक्षण दिलाया जायेगा। मास्टर ट्रेनर के रूप में सेवा देने के इच्छुक व्यक्ति इमली चौक परिसर मोतीमहल स्थित संयुक्त संचालक महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं। साथ ही जिला स्तर पर महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी के कार्यालय में संपर्क किया जा सकता है।

इस संबंध में विस्तृत जानकारी संयुक्त संचालक महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यालय से प्राप्त की जा सकती है। आवेदन प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 5 फरवरी 2021 है।

सुरक्षा जवान एवं सुरक्षा सुपरवाइजर के पदों के लिए 19 युवकों का हुआ चयन राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत जनपद पंचायत मुरार में लगा रोजगार मेला

 युवाओं को रोजगार एवं निजी क्षेत्र में नौकरी मुहैया कराने के मकसद से जिले की सभी जनपद पंचायतों में राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत रोजगार मेले आयोजित किए जा रहे हैं। इस कड़ी में जनपद पंचायत मुरार में लगाए गए रोजगार मेले में सुरक्षा जवान एवं सुरक्षा सुपरवाइजर के पदों के लिये 19 युवकों का चयन किया गया। इस शिविर में लगभग 125 युवाओं का पंजीयन हुआ था।

    जिला पंचायत से प्राप्त जानकारी के मुताबिक 29 जनवरी को जनपद पंचायत डबरा, 30 जनवरी को जनपद पंचायत भितरवार तथा 31 जनवरी को जनपद पंचायत घाटीगाँव में रोजगार मेले लगेंगे। जिनमें सुरक्षा जवान एवं सुरक्षा सुपरवाइजर की भर्ती की जायेगी। रोजगार मेले में नईदिल्ली की एसआईएस कंपनी सहित अन्य कंपनियों द्वारा भर्ती की जा रही है।

संभाग आयुक्त कार्यालय में ई-ऑफिस प्रणाली शुरू संभाग आयुक्त ने किया शुभारंभ

 आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश एवं शासकीय कामकाज में सुशासन स्थापित करने के उद्देश्य को लेकर प्रदेश सरकार द्वारा ई-ऑफिस कार्य प्रणाली को भी विशेष रूप से बढ़ावा दिया जा रहा है। एनआईसी (सूचना विज्ञान केन्द्र) के सहयोग से सरकारी दफ्तरों में ई-ऑफिस कार्यप्रणाली लागू की जा रही है। इस कड़ी में मोतीमहल स्थित संभाग आयुक्त कार्यालय में भी एनआईसी के तकनीकी सहयोग से ई-ऑफिस कार्य प्रणाली शुरू हो गई है। संभाग आयुक्त श्री आशीष सक्सेना द्वारा ई-ऑफिस कार्यप्रणाली का विधिवत शुभारंभ किया गया। 

जनसमस्या निवारण शिविर में मौके पर ही निपटी 1200 शिकायतें

 प्रदेश सरकार के ऊर्जा मंत्री श्री प्रधुम्न सिंह तोमर ने जनसमस्या निवारण शिविर में कहा कि प्रदेश सरकार की योजनाओं का लाभ अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति को दिलाने के लिए यह शिविर आयोजित किये जा रहे हैं। शिविर का उद्देश्य जरूरत मंद हितग्राहियों को शासन की योजनाओ का लाभ उनके घर के नजदीक ही मिले तथा उनको किसी भी प्रकार की परेशानियों का सामना न करना पड़े। प्रदेश सरकार गरीब व असहाय वर्ग के हितों के ख्याल रखने वाली सरकार है।

   हस्सु-हददु खां की पार्क रामाजी का पुरा बहोडापुर में लगाये गए जनसमस्या निवारण शिविर का लगभग 2690 हितग्राहियों ने लाभ लिया। शिविर में ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने कहा कि शहर को स्वच्छता में नम्बर एक स्थान पर लाना है। इसके लिए ग्वालियर विधानसभा में दो दिवसीय जनजागरूकता पदयात्रा निकाली जा रही है। जिसमें पानी बचाओ, बिजली बचाओ, नल में टोंटी लगाओ, गंदे पानी से निजात पाओ के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण के लिये जागृत करूँगा।
   ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने कहा कि शिविर में आये सभी हितग्राहियों की समस्याओं का निराकरण मौके पर ही किया जायेगा। शिविर में आने वाले हितग्राहियों की समस्याओं को मंत्री श्री तोमर व विभागीय अधिकारियों ने गंभीरता से सुना व मौके पर ही निराकरण कराया। रामाजी का पुरा की वृद्ध महिला को देखकर मंत्री श्री तोमर उनके पास गए और उनकी समस्या वहीं जमीन पर बैठकर सुनी तथा संबंधित अधिकारियों को वहीं बुलाकर वृद्ध माता की वृद्धा पेंशन मौके पर ही स्वीकृत कराकर प्रमाण पत्र दिया।
   रामाजी का पुरा हस्सु हद्दु खां पार्क में लगे शिविर में सबसे ज्यादा कामकाजी, हाथठेला के 786 आवेदन, विद्युत के 255 व अन्य विभागों के 1649 आवेदन आये जिसमें से कामकाजी व हाथठेला के कार्डों का वितरण मौके पर ही किया गया। साथ ही लगभग 1200 हितग्राहियों की समस्याओं का निराकरण मौके पर किया गया तथा अन्य समस्याओं के निराकरण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि इन समस्याओं का निराकरण शीघ्र कराकर मुझे अवगत करायें।
ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने सात घंटे खडे़ रहकर सुनी आमजन की समस्यायें
   ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के निर्देशन में लगाये गए जनसमस्या निवारण शिविर में बडी संख्या में हितग्राही आये। आने वाले हितग्राहियों की समस्या ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने लगातार सात घंटे खडे रहकर सुनी तथा कामकाजी, हाथठेला, मजदूरी, पेंशन के पात्र हितग्राहियों को मौके पर ही प्रमाण पत्र मंत्री श्री तोमर के द्वारा दिये गए।
जाकिर को मिली विकलांग पेंशन, खुश होकर लौटा घर
   जनसमस्या निवारण में आये बरा गावँ मदीना मस्जिद बहोड़ापुर निवासी श्री जाकिर खान दोनों पैरों से विकलांग है, चलने फिरने में दूसरों का सहारा लेते है। कही जाना हो तो कोई साथ मे होगा तभी जा पाते थे, इनकी समस्या को ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने समझा और तुरंत उनकी समस्या का निराकरण के लिए अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि इनको पेंशन और ट्राय साईकल अभी दी जाए। जिस पर अधिकारियों ने तुरंत कागजी कार्यवाही कर पेंशन का प्रमाण पत्र दिया साथ ही  ट्राय साईकल कल शुक्रवार को दिये जाने के लिए आसवस्थ किया।

शनिवार, 23 जनवरी 2021

महिला सम्मान में रथ सहित रैली निकाल कर पुलिस अधिकारीयों और उनके परिवार के बच्चों ने शपथ लेकर महिला अपराधों में कमी लाने हेतु सामाजिक जागरूकता के लिये जेहाद शुरू किया

 पुलिस मुख्यालय से प्राप्त निर्देशानुसार महिला अपराधों में कमी लाने के लिए जागरुकता अभियान 11 जनवरी, 2021 से संपूर्ण मध्यप्रदेश में प्रारंभ किया गया है। माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन द्वारा दिनांक 11.01.2021 को भोपाल में इसका शुभारंभ किया गया। दिनांक 22.01.2021 को 05वीं वाहिनी विशेष सशस्त्र बल, मुरैना के परेड ग्राउण्ड पर प्रातः 10.30 बजे वाहिनी के समस्त अधिकारियों, जवानों एवं वाहिनी के परिवार के लगभग 300 बच्चों को महिला सुरक्षा के संबंध में शपथ दिलाई गई।

शपथ के उपरांत एक सम्मान रैली का आयोजन किया गया। सम्मान रैली के लिए एक सम्मान रथ तैयार किया गया, जिसमें पुलिस मुख्यालय द्वारा उपलब्ध कराए गए फ्लेक्स/पोस्टर लगाए गए थे। तत्पश्चात् सम्मान अभियान की शुभंकर गुड्डी का चित्र एवं पुलिस मुख्यालय द्वारा उपलब्ध कराए गए विभिन्न फ्लेक्स एवं नारों को छोटी-छोटी तख्तियों पर लगाकर सम्मान रैली वाहिनी के परेड ग्राउण्ड  से प्रारंभ होकर गेट क्रमांक 02 से व्ही.आई.पी. रोड होते हुए वाहिनी की आवासीय लाइन, फर्स्ट यू, सेकेण्ड यू, थर्ड यू लाइन, पुरानी लाइन एवं नवीन आवासों से निकाली गई। रैली के दौरान रैली में शामिल हुए पुलिस परिवार के लगभग 300 बालक-बालिकाएं पूरे जोश के साथ विभिन्न नारे लगा रहे थे, जैसे- ’’नारी का सम्मान, असली हीरो की पहचान’’, ’’नारी शक्ति, जिन्दाबाद’’। जब रैली वाहिनी के आवासीय परिसर से होकर निकल रही थी तो उस समय वाहिनी के परिवारों द्वारा बच्चों को मिष्ठान वितरण किया गया। तत्पश्चात् वाहिनी परेड ग्राउण्ड पर रैली का समापन हुआ एवं पुलिस अधिकारियों, जवानों एवं सभी बच्चों के स्वल्पाहार के साथ कार्यक्रम समाप्त हुआ।
इसके पूर्व दिनांक 20 एवं 21 जनवरी, 2021 को वाहिनी के प्रशिक्षण हाॅल में पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों, पुलिस परिवार की महिलाओं एवं बालक-बालिकाओं के लिए महिला अपराधों में कमी लाने के लिए जागरुकता हेतु विशेष प्रशिक्षण दिया गया था।

आगामी दिनांकों में सम्मान कार्यक्रम के अंतर्गत वाहिनी के पुलिस परिवार के बच्चों के लिए ड्राइंग, निंबध, वाद-विवाद एवं रंगोली प्रतियोगिता आयोजित की जावेगी।

पुलिस मुख्यालय से प्राप्त निर्देशानुसार महिला अपराधों में कमी लाने के लिए जागरुकता अभियान 11 जनवरी, 2021 से संपूर्ण मध्यप्रदेश में प्रारंभ किया गया है। माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन द्वारा दिनांक 11.01.2021 को भोपाल में इसका शुभारंभ किया गया। दिनांक 22.01.2021 को 05वीं वाहिनी विशेष सशस्त्र बल, मुरैना के परेड ग्राउण्ड पर प्रातः 10.30 बजे वाहिनी के समस्त अधिकारियों, जवानों एवं वाहिनी के परिवार के लगभग 300 बच्चों को महिला सुरक्षा के संबंध में शपथ दिलाई गई।

शपथ के उपरांत एक सम्मान रैली का आयोजन किया गया। सम्मान रैली के लिए एक सम्मान रथ तैयार किया गया, जिसमें पुलिस मुख्यालय द्वारा उपलब्ध कराए गए फ्लेक्स/पोस्टर लगाए गए थे। तत्पश्चात् सम्मान अभियान की शुभंकर गुड्डी का चित्र एवं पुलिस मुख्यालय द्वारा उपलब्ध कराए गए विभिन्न फ्लेक्स एवं नारों को छोटी-छोटी तख्तियों पर लगाकर सम्मान रैली वाहिनी के परेड ग्राउण्ड  से प्रारंभ होकर गेट क्रमांक 02 से व्ही.आई.पी. रोड होते हुए वाहिनी की आवासीय लाइन, फर्स्ट यू, सेकेण्ड यू, थर्ड यू लाइन, पुरानी लाइन एवं नवीन आवासों से निकाली गई। रैली के दौरान रैली में शामिल हुए पुलिस परिवार के लगभग 300 बालक-बालिकाएं पूरे जोश के साथ विभिन्न नारे लगा रहे थे, जैसे- ’’नारी का सम्मान, असली हीरो की पहचान’’, ’’नारी शक्ति, जिन्दाबाद’’। जब रैली वाहिनी के आवासीय परिसर से होकर निकल रही थी तो उस समय वाहिनी के परिवारों द्वारा बच्चों को मिष्ठान वितरण किया गया। तत्पश्चात् वाहिनी परेड ग्राउण्ड पर रैली का समापन हुआ एवं पुलिस अधिकारियों, जवानों एवं सभी बच्चों के स्वल्पाहार के साथ कार्यक्रम समाप्त हुआ।
इसके पूर्व दिनांक 20 एवं 21 जनवरी, 2021 को वाहिनी के प्रशिक्षण हाॅल में पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों, पुलिस परिवार की महिलाओं एवं बालक-बालिकाओं के लिए महिला अपराधों में कमी लाने के लिए जागरुकता हेतु विशेष प्रशिक्षण दिया गया था।
आगामी दिनांकों में सम्मान कार्यक्रम के अंतर्गत वाहिनी के पुलिस परिवार के बच्चों के लिए ड्राइंग, निंबध, वाद-विवाद एवं रंगोली प्रतियोगिता आयोजित की जावेगी।



बुधवार, 20 जनवरी 2021

मंगलवार, 19 जनवरी 2021

लोकल किसान साथ नहीं दे रहे तो क्या हुआ , बाहर से कांग्रेसी आयेंगें किसान बनकर , ग्वालियर से महापंचायत में शामिल होगें हजारों काॅग्रेस कार्यकर्ताःडाॅ. सिकरवार

 झगड़ा और महाभारत है बस इतना कि कुछभी  करो मतलब कैसे भी करो नरेन्द्र सिंह तोमर को खत्म करो और नरेन्द्र सिंह तोमर ऐसे मृत्युंजीवी हैं कि बरसों बरस से लगी कांग्रेस उनकी जड़ खोदना तो दूर , जड़ पकड़ ही नहीं पा रही है और न तलाश पा रही है , अब कांग्रेस मुरैना में ही महापंचायत करेगी , सवाल है कि मुरैना में ही क्यों , जवाब है नरेन्द्र सिंह तोमर यहीं रहता है , यहीं से सांसद है और केन्द्रीय मंत्री है , अब मुरैना लोकल के किसान तो साथ दे नहीं रहे , ऊपर से पंचायतों के चुनाव , नगरीय निकायों के चुनाव , कांग्रेस अकेले मुरैना से ही उपचुनाव में जीत पाई भारी प्रतिशत में सीटें वरना और जगह तो डिब्बा ही गोल हो गया । अब मुरैना को कुरूक्षेत्र बनाकर एक तीर से दो निशाने , एक तो होने वाने चुनाव और दूसरे नरेन्द्र सिंह तोमर कांग्रेस की नींद हराम और चैन छीन लेने वाले महारथी ,  लोकल वर्सेज विदेशी टूरिस्ट और प्रवासी पक्षियों का बर्ड फ्लू फैलाने का मसला कांग्रेस में भीतर भी और कांग्रेस से बाहर भी कांग्रेस के लिये एक ऐसा लाइलाज सिरदर्द यानि कि माइग्रेन है कि जो अब ग्रेन तक आ पहुंचा है । ग्वालियर। प्रदेष के पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेष काॅग्रेस अध्यक्ष श्री कमलनाथ के नेतृत्व में किसानों की समस्याओं को लेकर 20 जनवरी को मुरैना में किसानों की होने वाली महापंचायत में ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र से हजारों की संख्या में किसान और काॅग्रेस कार्यकर्ता विधायक डाॅ. सतीष सिंह सिकरवार की अगुवाई में मुरैना कूच करेंगे। महापंचायत की तैयारियों को लेकर आज ललितपुर काॅलोनी कार्यालय पर काॅग्रेसजनों की एक महत्वपूर्ण बैठक विधायक डाॅ. सतीष सिंह सिकरवार की अध्यक्षता में हुई। बैठक में कई कार्यकर्ताओं ने किसानों की समस्याओं को लेकर अपने विचार और सुझाव रखे। डाॅ. सिकरवार ने बताया कि 20 जनवरी को प्रातः 9 बजे 100 से अधिक चार पहिया वाहन कटोराताल पर एकत्रित होगें, वाहनों पर स्टीकर और झण्डे लगाये जायेंगे। इन वाहनों से हजारों कार्यकर्ता मुरैना रैली में षामिल होने के लिये कूच करेंगे।  

     विधायक डाॅ. सतीष सिंह सिकरवार ने बैठक को संबोधित करते हुये कहा कि देष का किसान विभिन्न समस्याओं और केन्द्र सरकार द्वारा पास किये गये तीन कृशि बिल जो किसान विरोधी हैं, से परेषान है। डाॅ. सिकरवार ने कहा कि काॅग्रेस पार्टी हमेषा काॅग्रेस हितों की रक्षा के लिये लडती रही है और आगे भी लडती रहेगी। उन्होने कार्यकर्ताओं का आव्हान किया कि मुरैना में होने वाली महापंचायत में हजारों की संख्या में पहुॅचकर उन किसानों का समर्थन करें, जो दिल्ली की सरहद के आस-पास धरना व आंदोलन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह बेहद निराषाजनक है कि लम्बे समय से आंदोलनरत किसानों की समस्याओं के समाधान के लिये केन्द्र सरकार का रवैया सकारात्मक न होकर नकारात्मक बना हुआ है। इसी कारण अब तक किसानों की समस्याओं को समाधान नहीं निकला है। विधायक डाॅ. सिकरवार ने कहा कि किसानों के समर्थन के लिये काॅग्रेस नेतृत्व अगर दिल्ली कूच का ऐलान करेगा तो हजारों किसान व काॅग्रेस कार्यकर्ता दिल्ली जाकर अपनी भागीदारी निभाएंगे। बैठक में मौजूद काॅग्रेसजनों ने हजारों की संख्या में मुरैना महापंचायत में षामिल होने का संकल्प व्यक्त किया। विधायक डाॅ. सिकरवार दो दिन लगातार मुरैना प्रवास पर रहेंगे और ग्रामीण क्षेत्रों में सघ्न जनसम्पर्क कर रैली में 100 से अधिक टेक्टरों के साथ रैली में आयेंगे।



जब 'खुद' भये कोतवाल तो डर काहे का :झगड़ा कंपू में.. केस दतिया में; बगैर बताए मुख्यालय छोड़ने और झूठा केस बनाने पर दतिया TI सस्पेंड; घटनाक्रम छुपाने पर कंपू टीआई अटैच

गलती छुपाने की चालाकी ग्वालियर क्षेत्र के दो थाना प्रभारियों को भारी पड़ी। एक सस्पेंड कर दिए गए, तो दूसरे से थाना छीनकर लाइन में भेज दिया गया। मामला दतिया और ग्वालियर जिले से जुड़ा है। दिलचस्प मामले का खुलासा जेल में बंद आरोपी के चाचा के शिकायत पत्र से हुआ है। उन्होंने बताया कि पहली बात तो घटना हुई ही नहीं, मेरे भतीजे को जबरन फंसा दिया। मामूली बहस पर मोबाइल लूटने का आरोप लगा दिया, फिर जबर्दस्ती दतिया ले गए और वहां हथियार के साथ पकड़ना बताकर जेल भेज दिया। अफसर फरियाद पढ़ते ही चौंक गए। तत्काल इनपुट निकाला तो बात सही निकली। दोनों जगह के थाना प्रभारियों को गाज गिर गई।

पढ़िए पूरी कहानी-

बात 15 जनवरी की है। दतिया कोतवाली के थाना प्रभारी रत्नेशसिंह यादव को अचानक कोई निजी काम आ पड़ा और वे ग्वालियर रवाना हो गए। वे मुख्यालय छोड़ रहे थे.. इसकी खबर किसी वरिष्ठ अधिकारी को नहीं दी। वे ग्वालियर के कंपू थाना क्षेत्र में आए थे, तभी किसी बदमाश ने उनका मोबाइल लूट लिया। रत्नेश ठहरे पुलिसवाले.. उन्होंने तुरंत पीछा कर संदेही सोम उर्फ शुभम भार्गव निवासी गुढ़ा गुढ़ी को पकड़ा। मोबाइल भी बरामद कर लिया। इसकी सूचना उन्होंने कंपू थाना क्षेत्र की प्रभारी अनिता मिश्रा को दी, तो उन्होंने पुलिसबल भेजा। बावजूद रत्नेश ने इस मामले की रिपोर्ट नहीं कराई, न ही बदमाश को कंपू पुलिस को सौंपा। उलटा वे इसे अपने साथ दतिया ले आए और अपने थाने में एफआईआर करा दी। उसमें मोबाइल लूट नहीं, बल्कि आर्म्स एक्ट की धाराएं लगाईं और आरोपी को जेल भिजवा दिया।

टीआई ने नियमों का खुद उल्लंघन किया, जबकि उन्हें फरियादी बनकर टीआई रत्नेश को कंपू थाने पर विधिवत रिपोर्ट करानी थी और आरोपी को वहीं पर उनके सुपुर्द कर देना था। दूसरा यह भी हो सकता था कि दतिया थाने में शून्य पर रिपोर्ट कायम कराते और डायरी आरोपी समेत कंपू पुलिस को भिजवा देते। कंपू पुलिस विधिवत कार्रवाई कर आरोपी को गिरफ्तार करती। जिस घटनास्थल पर वारदात हुई है, मामले की जांच वही थाना करता है।

आदेश में साफ कहा गया है कि गंभीर घटना काे वरिष्ठ अफसराें से छिपाया गया है।
आदेश में साफ कहा गया है कि गंभीर घटना काे वरिष्ठ अफसराें से छिपाया गया है।

जवाब देना पड़ता, इसलिए कंपू में नहीं कराई एफआईआर

कंपू के बजाय दतिया लौटकर रिपोर्ट करने की वजह गलती छुपाना था क्योंकि वे बगैर बताए हेड ऑफिस छोड़ आए थे। यदि रत्नेश ऐसा करते, तो उन्हें यह बताना पड़ता कि वे ग्वालियर के कंपू में क्यों गए थे। पहले क्यों नहीं बताया। अपने थाने के रोजनामचा में कंपू के लिए रवानगी भी दिखाना पड़ती। इस सबसे बचने के लिए, लेकिन आरोपी को हर हाल में फंसाने के लिए उन्होंने अपने थाने पर लाकर अलग घटना में आरोपी बना दिया।

आखिर कंपू टीआई मिश्रा क्यों लाइन अटैच किया

मामले में कंपू थाने की टीआई अनिता मिश्रा लाइन अटैच कर दी गई हैं। इसकी वजह है कि इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी उन्हें थी, लेकिन उन्होंने पूरी बात सीनियर अफसरों से छुपाए रखी। उन्होंने रत्नेश का साथ देने के चक्कर में अपनी कुर्सी गंवा दी। उन्हें थाने से हटाकर लाइन में भेज दिया गया है।

आरोपी कह रहा है कि लूट हुई नहीं, बहस हुई थी

मामले में आर्म्स एक्ट के साथ मोबाइल लूट भी हुई थी या नहीं, यह अब सवालों के घेरे में है। इसकी भी जांच होगी। आरोपी का कहना है कि मैंने कभी लूट की ही नहीं। सिर्फ टीआई के साथ बहस हुई थी और उसके बाद हाथापाई हो गई। वे वर्दी में नहीं थे, हमें क्या पता कौन है। चाचा उमेश भार्गव ने बेटे के साथ हुई घटना की जानकारी पुलिस अधिकारियों को दी तो छानबीन शुरू हो गई। मामला सही निकला तो दोनों अफसरों पर गाज गिर गई।

मामला वहीं दर्ज कराना था टीआई को : एसपी

मामले में दतिया एसपी अमन सिंह राठौर का कहना है, बिना अनुमति दतिया के कोतवाली थाना प्रभारी रत्नेश यादव ग्वालियर गए। वहां लूट हो गई, तो मामला दर्ज न कराते हुए यहां लाकर एफआईआर कर दी। इस पर तत्काल टीआई को सस्पेंड कर लाइन भेजा गया है। ग्वालियर और दतिया में मामले की जांच की जा रही है।

टीआई पर मामला दर्ज कराने दिया आवेदन

दतिया के टीआई रत्नेश यादव द्वारा ग्वालियर के युवक को बिना कारण दतिया ले जाकर आर्म्स एक्ट का फेक मामला दर्ज करने पर आरटीआई एक्टिविस्ट आशीष चतुर्वेदी ने शिकायत की है। व्यापमं मामले का खुलासा करने वाले आशीष ने ग्वालियर एसपी को आवेदन देकर रत्नेश यादव पर मामला दर्ज करने की मांग की है।

 

सोमवार, 18 जनवरी 2021

राज्यसभा सांसद सिंधिया ने महाराज बाड़े पर स्मार्ट सिटी द्वारा निर्मित किए गए डिजिटल म्यूजियम एवं तारामण्डल के साथ-साथ टाउन हॉल का निरीक्षण किया

राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने महाराज बाड़े पर स्मार्ट सिटी द्वारा निर्मित किए गए डिजिटल म्यूजियम एवं तारामण्डल के साथ-साथ टाउन हॉल का भी निरीक्षण किया।

स्मार्ट सिटी द्वारा किए जा रहे कार्यों के साथ-साथ उनके भविष्य के प्रस्तावों पर भी विस्तार से चर्चा की।









मदाखलत ने हटाए बिना अनुमति लगे 500 से अधिक बोर्ड

 नगर निगम ग्वालियर के मदाखलत अमले द्वारा शहर के विभिन्न खम्बों व पोलों इत्यादि जगह पर लगे अवैध बोर्ड व होर्डिंग हटाने की कार्यवाही की गई। जिसमें तीनों विधानसभा क्षेत्रों के अंतर्गत लगभग 500 से अधिक अवैध बोर्ड कट आउट एवं पोस्टर हटाने की कार्रवाई की गई।

नगर निगम आयुक्त श्री शिवम वर्मा के निर्देश पर शहर के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों   में मदाखलत अमले द्वारा अभियान चलाकर बिना अनुमति लगे बोर्ड व होर्डिंग हटाते हुए विभिन्न प्रमुख बाजारों में कार्यवाही की तथा बोर्ड उतरवाकर जप्त किए।
ग्वालियर पूर्व क्षेत्र में नगर निगम के अमले द्वारा 245 पोस्टर बैनर एवं कटआउट हटाए गए। ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत लगभग 185 बोर्ड ,कटआउट  एवं पोस्टर  हटाने की कार्रवाई  की गई । वहीं दक्षिण विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत 65 बोर्ड एवं कटआउट हटाए गए।
इसके साथ ही सुगम यातायात के लिए अन्य स्थानों पर अस्थाई अतिक्रमण हटाने की भी कार्यवाही की। वहीं आमजनों से भी अपील की कि सडक पर अतिक्रमण कर यातायात अवरुद्व न करें अन्यथा उनके खिलाफ जप्ती एवं चालान की कार्यवाही की जाएगी। इसके साथ ही रोड पर खड़ी गाय एवं बैल जो कि यातायात को अवरुद्ध कर रहे थे उनको भी पकड़कर गौशाला भिजवाया गया।

सफाई के साथ-साथ किया लोगों को जागरूक निगम द्वारा सभी वार्डों में चलाया गया विशेष अभियान

 नगर निगम ग्वालियर द्वारा शहर को साफ व स्वच्छ रखने के लिए तथा स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 की तैयारियों को लेकर शहर के सभी भागों में विशेष अभियान चलाकर साफ व स्वच्छ किया जा रहा है । इसके साथ ही आम जनों को भी स्वच्छता के प्रति विभिन्न जानकारियां देकर जागरूक किया जा रहा है।

नगर निगम आयुक्त श्री शिवम वर्मा के निर्देशानुसार नगर निगम द्वारा चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत आज सिटी सेंटर स्थित अलकापुरी तिराहे पर निगम के अमले द्वारा सड़कों किनारे लगी गाजर घास को कटवाया गया । कचरे के ढेर को उठाया गया तथा दोनों ओर की सड़क को साफ व स्वच्छ कर चकाचक बनाया गया। इसके साथ ही वार्ड 53 में वार्ड मॉनिटर श्री सतेंद्र सोलंकी के निर्देशन में स्वच्छता जागरूकता अभियान चलाया गया जिसमें स्वच्छता निरीक्षक श्री रामचंद्र धोलपुरिया सहित अन्य कर्मचारियों ने आम जनों को स्वच्छता से संबंधित जानकारियां दी तथा स्वच्छता की शपथ दिलाई। वहीं वार्ड 44 में वार्ड मॉनिटर श्री अरविंद चतुर्वेदी के निर्देशन में दौलतगंज में स्वच्छता जागरूकता रैली का आयोजन किया गया।
इसके साथ ही वार्ड क्रमांक 42, बख्शी की गोठ में वार्ड मॉनिटर श्री बलवीर सिंह सिकरवार  के निर्देशन में सफाई दूतों के साथ, उनकी उचित एवं प्रभावी भूमिका तथा सहयोग के विषय में विस्तृत चर्चा हुई। अधिकाधिक रहवासियों का सहयोग मिले, सफाई वयवस्था और बेहतर हो इस विषय में व्यापक चर्चा हुई। डोर टू डोर कलेक्शन, सफाई के बाद सड़क पर कचरा न आये इस विषय में प्रयास पर फोकस डाला गया। सफाई सहायक श्री अमन, सफाई मित्र श्री  किशन का इस श्रंखला में आज स्वागत , सम्मान हुआ। मुख्य रूप से पूर्व पार्षद श्री गंगाराम बघेल तथा अन्य जैसे सर्व सुश्री नीतू निगोते, रतन माला शिन्दे,दिपाली खोले,मीना अग्रवाल, आशा,गुड्डी पाल,प्रीति शर्मा, ईशु अग्रवाल, ममता जैन,लक्ष्मी शिन्दे,तथा अन्य उपस्थित थे। वार्ड क्रमांक 04 में वार्ड मॉनिटर महेंद्र अग्रवाल  के निर्देशन में विनय नगर, कोटेश्वर क्षेत्र मे दलेल लगाकर सफाई कराई गई। डब्ल्यू एच ओ श्री दिलीप, सफाई सहायक दरोगा श्री रघुवर, का स्थानीय निवासी श्री श्रीराम गोयल द्वारा सम्मान किया गया। स्थानीय नागरिकों को स्वच्छता की शपथ दिलाई गई।
डस्टबिन नहीं रखने वाले दुकानदारों के खिलाफ किया जुर्माना
वार्ड 04 कोटेश्वर क्षेत्र मे दुकानदार एवं ठेले वालों पर स्वच्छता सर्वेक्षण के नियमो के तहत दो डस्टबिन दुकान पर नही रखने के कारण जुर्माना किया गया। जिसमें जय भोले पुलाव वाला, राजू भाई परांठे वाला, कामदगिरि जनरल स्टोर ,न्यू बालाजी जनरल स्टोर तथा राजकुमार खटीक मुर्गा वाला कोटेश्वर मंदिर के पास आदि दुकानदारों पर जुर्माना किया गया।
स्पोर्ट्स शिक्षक संघ ने निकाली स्वच्छता जागरूकता रैली
आज स्पोर्ट्स शिक्षक संघ द्वारा वार्ड क्र 30 स्थित मानिक विलास कॉलोनी द्वारा साफ सफाई की गई एवं नागरिकों से स्वच्छ सर्वेक्षण में सहयोग किये जाने तथा साफ सफाई रखने का आग्रह किया गया।
पर्यावरण मित्र समूह में लगाए पौधे
वार्ड क्र 58 में पर्यावरण मित्र समूह , ग्वालियर द्वारा वृक्षारोपण  कार्यक्रम आयोजित किया गया। उक्त आयोजन में भी स्वच्छता अभियान के तहत माधव नगर वासियों से साफ सफाई रखने की अपील की गई।

सहयोग आपका, मेहनत हमारी - बनेगा स्वच्छ ग्वालियर, कर लो तैयारी

 नगर निगम आयुक्त श्री शिवम वर्मा ने स्वच्छ ग्वालियर स्वस्थ ग्वालियर के लिए शहर के सभी नागरिकों से अपील की है कि यह नगर हमारा है और इसे स्वच्छ रखने की जवाबदारी भी हमारी है। नगर निगम का अमला शहर को स्वच्छ बनाने में लगा हुआ है, आपसे अपेक्षा है कि आप नगर निगम के सहयोगी बनें और ग्वालियर को स्वच्छता में अव्वल बनाने में जुट जाएं।

निगमायुक्त श्री वर्मा ने बताया कि  स्वच्छता रैंकिंग में हमें पिछले वर्ष तेरहवां स्थान मिला है , अब हमें अपने शहर को नंबर एक पर लाना है , लेकिन यह तभी संभव है। जब शहर  का हर नागरिक अपने शहर को सबसे स्वच्छ और सुंदर शहर बनाने के साथ-साथ सबसे स्वस्थ शहर बनाने के लिए कटिबद्ध हो और नगर निगम के अमले के साथ कंधे से कंधा मिलाकर स्वच्छता के कार्य में भागीदार बने।
उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते कि आप स्वच्छता के कार्य में कोई मेहनत करें पर हम अपेक्षा करते हैं कि आप हमारे किए हुए कार्यों में सहभागी बनें। हमारा शहर बहुत सुंदर शहर है, इसे और सुंदर बनाने में आपकी भागीदारी अपेक्षित है। मैं नगर निगम कमिश्नर श्री शिवम वर्मा आपको आश्वस्त करता हूं कि शहर को स्वच्छता में नंबर 1 लाने में निगम का पूरा परिवार कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगा। मुझे कोई शक भी नहीं है कि हमारा शहर का देश के सबसे स्वच्छ शहर में स्थान नहीं आ सकता है । बस अपेक्षा है कि शहर के हर नागरिक को दृढ़ संकल्पित होने की। हम अपना मकान, अपना मोहल्ला ,अपनी दुकान स्वच्छ रखने के लिए कार्य करें तो कोई कारण नहीं है कि हम देश में अव्वल ना हो पाएं। तो लें संकल्प आज ही अपने शहर को सबसे स्वस्थ और सुंदर शहर बनाने के साथ-साथ सबसे स्वच्छ शहर बनाने के लिए।

बेहतर स्वास्थ्य ही सबसे बड़ी पूँजी है – श्रीमती सिंधिया

 आधुनिक युग में स्वास्थ्य ही सबसे बड़ी पूँजी है। स्वस्थ व्यक्ति ही देश की उन्नति में भागीदार बनते हैं। हम स्वस्थ होंगे तभी हमारा प्रदेश और देश उन्नति के मार्ग पर तेजी के साथ आगे बढ़ेगा। राज्यसभा सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रविवार को लॉयंस क्लब एवं बिरला हॉस्पिटल के संयुक्त तत्वावधान में ठाठीपुर के सी-ब्लॉक में आयोजित वृहद स्वास्थ्य परीक्षण शिविर में मुख्य अतिथि के रूप में यह बात कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने की। स्वास्थ्य प्रशिक्षण शिविर में एक हजार से अधिक लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण हुआ और 290 लोगों को आयुष्मान कार्ड बनाकर वितरित भी किए गए।

    लॉयंस क्लब एवं बिरला हॉस्पिटल द्वारा आयोजित वृहद स्वास्थ्य एवं प्रशिक्षण शिविर में प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री श्री ओपीएस भदौरिया, पूर्व मंत्री श्रीमती माया सिंह, पूर्व विधायक श्री मुन्नालाल गोयल सहित बिरला हॉस्पिटल के चिकित्सक और लॉयंस क्लब के अध्यक्ष सहित सभी पदाधिकारी उपस्थित थे।
    राज्यसभा सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि लोगों के स्वास्थ्य की चिंता करने से बड़ा कोई पुनीत कार्य नहीं होता। लॉयंस क्लब और बिरला अस्पताल द्वारा किए गए इस पुनीत कार्य की जितनी प्रशंसा की जाए उतनी कम है। उन्होंने कहा कि पहले समय में जब युद्ध होता था तो एक हाथ में तलवार और एक हाथ में ढाल सैनिकों के पास होती थी। आधुनिक समय में हमारी ढाल हमारा बेहतर स्वास्थ्य ही है। हम सबको अपने स्वास्थ्य की चिंता सबसे पहले करनी चाहिए। जो लोगों के बेहतर स्वास्थ्य की दिशा में कार्य करते हैं वे समाज के अनुकरणीय हैं और रहेंगे।
    कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं की दिशा में कार्य कर रही है। आने वाले दिनों में हमारा प्रदेश बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिये देश में अव्वल प्रदेश बनेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भी हमारे चिकित्सकों और स्वास्थ्य अमले ने बेहतर कार्य किया है। हमारे चिकित्सकों ने समाज को यह एहसास कराया है कि विपत्ति के समय हम रात-दिन उनके साथ हैं।
    स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि ग्वालियर में बिरला हॉस्पिटल और लॉयंस क्लब द्वारा नि:शुल्क वृहद स्वास्थ्य प्रशिक्षण शिविर का जो आयोजन किया गया है, यह एक अनुकरणीय पहल है। इस प्रकार के आयोजन निरंतर होते रहना चाहिए। शिविर में एक हजार से अधिक लोगों को चिकित्सकों द्वारा परीक्षण कर उनके उपचार की जो पहल की गई है उसके लिये उन्हें बधाई।
    शिविर में प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री श्री ओपीएस भदौरिया ने भी इस बेहतर कार्य के लिये लॉयंस क्लब और बिरला हॉस्पिटल को बधाई दी। उन्होंने कहा कि ग्वालियर में बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिये सिंधिया परिवार ने अनेक कार्य किए हैं। आने वाले दिनों में भी ग्वालियर में और बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिये एक हजार बिस्तर का निर्माण करने के साथ अन्य महत्वपूर्ण कार्य हाथ में लिए गए हैं।
    पूर्व मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कहा कि नि:शुल्क स्वास्थ्य एवं परीक्षण शिविर आयोजित कर एक हजार से अधिक लोगों को लाभान्वित करने का जो कार्य किया गया है उससे अनेक लोग लाभान्वित हुए हैं। इस प्रकार के आयोजन निरंतर होते रहना चाहिए।
कार्यक्रम में पूर्व विधायक श्री मुन्नालाल गोयल ने कहा कि बिरला अस्पताल के 15 से अधिक चकित्सकों ने दिन भर उपस्थित रहकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया और उन्हें बेहतर दवायें भी प्रदान की हैं। इसके साथ ही कैंसर जैसी बीमारी की जाँच हेतु भी विशेष वैन लाकर शिविर में परीक्षण किया गया है। इस पुनीत कार्य के लिये बिरला हॉस्पिटल और लॉयंस क्लब की सराहना की जाना चाहिए।
कार्यक्रम के प्रारंभ में कर्नल डॉ. देसाई ने शिविर की रूपरेखा पर विस्तार से प्रकाश डाला।

जिला अस्पताल मुरार का होगा उन्नयन : अब 500 बिस्तर का होगा अस्पताल, ठाठीपुर डिस्पेंसरी को 30 बिस्तरीय अस्पताल बनाया जायेगा

 कैलाशवासी माधवराव सिंधिया जिला अस्पताल अब 500 बिस्तर का होगा। तीन सौ बिस्तर की अतिरिक्त व्यवस्था की जायेगी। इसके लिये शासन को भेजे गए 6 करोड़ 4 लाख रूपए के प्रस्ताव को स्वीकृति दी जायेगी। इसके साथ ही ठाठीपुर डिस्पेंसरी का उन्नयन कर 30 बिस्तर का अस्पताल बनाया जायेगा। राज्यसभा सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी के साथ जिला अस्पताल के निरीक्षण के उपरांत आयोजित बैठक में इन दोनों प्रस्तावों की स्वीकृति दिलाने की बात कही।

    जिला अस्पताल के भ्रमण के दौरान प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास राज्यमंत्री श्री ओपीएस भदौरिया, पूर्व केबिनेट मंत्री श्रीमती माया सिंह, पूर्व विधायक श्री मुन्नालाल गोयल, कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह सहित विभागीय अधिकारी और चिकित्सकगण उपस्थित थे।
    राज्यसभा सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि ग्वालियर का जिला अस्पताल बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस अस्पताल में ग्रामीण क्षेत्र के ज्यादातर लोग उपचार हेतु आते हैं। अस्पताल का उन्नयन समय की आवश्यकता भी है। मध्यप्रदेश सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा पूर्व में भेजे गए 6 करोड़ 4 लाख रूपए के प्रस्ताव की स्वीकृति दिलाई जायेगी। इस अस्पताल की क्षमता 500 बिस्तर की हो जायेगी। वर्तमान में 200 बिस्तर का अस्पताल संचालित है। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री से आग्रह किया कि ठाठीपुर डिस्पेंसरी का उन्नयन कर उसे 30 बिस्तर का अस्पताल बनाए जाने की स्वीकृति भी शासन से दी जाए, ताकि ठाठीपुर में भी लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें उपलब्ध हो सकें। स्वास्थ्य मंत्री श्री प्रभुराम चौधरी ने दोनों ही प्रस्तावों को स्वीकृत करने की बात कही।
    बैठक में जिला अस्पताल में रात्रि के समय कैजुअल्टी में गंभीर मरीज व दुर्घटना से पीड़ित मरीजों के बेहतर उपचार हेतु अतिरिक्त स्टाफ की आवश्यकता पर भी स्वास्थ्य मंत्री ने शीघ्र कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। बैठक में अस्पताल परिसर में कैलाशवासी स्व. श्री माधवराव सिंधिया की प्रतिमा स्थापित करने का निर्णय भी लिया गया।
    कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बैठक में बताया कि जिला अस्पताल परिसर में पूर्व से स्वीकृत 90 लाख रूपए की राशि से आयुष विंग भवन निर्माण के लिये स्थान का चयन कर लिया गया है, जिस पर निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जायेगा। इसके साथ ही अस्पताल में पोस्टमार्टम हाउस के बाहर अटेण्डरों को बैठने के लिये शेड आदि की व्यवस्था हेतु 25 लाख रूपए का  प्रस्ताव भी शासन को भेजा गया है। कलेक्टर ने यह भी बताया कि जिला अस्पताल में मरीजों की सुविधा हेतु 10 प्राइवेट रूम तैयार करने का कार्य रोगी कल्याण समिति एवं जनभागीदारी समिति के माध्यम से करने का प्रस्ताव है, जिस पर कार्रवाई की जा रही है।
श्री सिंधिया ने किया अस्पताल का निरीक्षण
    राज्यसभा सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जिला अस्पताल पहुँचकर अस्पताल का निरीक्षण किया और मरीजों से उपचार के संबंध में चर्चा भी की। उन्होंने अस्पताल में भर्ती मरीजों को फल वितरित भी किए। उनके साथ स्वास्थ्य मंत्री श्री प्रभुराम चौधरी, नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री श्री ओपीएस भदौरिया, पूर्व मंत्री श्रीमती माया सिंह, पूर्व विधायक श्री मुन्नालाल गोयल और कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह उपस्थित थे।

राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार कुशवाह ने 318 जरूरतमंदों को आर्थिक सहायता के चैक सौंपे

 प्रदेश में आर्थिक रूप से कमजोर एवं किसान हितैषी सरकार है। सरकार दीन-दुखियों एवं जरूरतमंदों  की मदद के लिए कटिबद्ध है। इन्हीं सबको केन्द्र में रखकर सरकार ने योजनाएँ बनाईं है। यह बात उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री ( स्वतंत्र प्रभार) श्री भारत सिंह कुशवाह ने मंत्री स्वेच्छानुदान से जरूरतमंदों को आर्थिक सहायता के चैक वितरित करते समय कही।

रविवार को यहां ठाठीपुर स्थित अपने स्थानीय कार्यालय पर राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने मंत्री  स्वेच्छानुदान से 318 जरूरतमन्दों को  लगभग 19 लाख रुपये की आर्थिक सहायता के चैक सौंपे। साथ ही सहायता लेने आए सभी हितग्राहियों को भरोसा दिलाया कि सरकार आगे भी उनकी हर संभव मदद करेगी। उन्होंने आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के सदस्यों के इलाज, रोज़मर्रा की जरूरतों एवं गरीब बच्चों की पढ़ाई इत्यादि से संबंधित आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए यह सहायता प्रदान की है।
इस अवसर पर सर्वश्री कप्तान सिंह सोलंकी, प्रेम सिंह राजपूत, कैलास श्रीवास्तव, दीवान सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण व श्रीमती नीरू सिंह ज्ञानी मौजूद थीं।
आड़े वक्त में मदद कर सरकार ने हमारे आँसू पोंछे हैं......
आर्थिक सहायता के चैक लेने आईं महिलाएँ प्रदेश सरकार एवं राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री भारत सिंह कुशवाह को दुआएँ देते नहीं थक रहीं थीं। ग्राम खेमराज के पुरा से आईं श्रीमती रामश्री व श्रीमती सीमा का कहना था कोरोनाकाल में हमने बड़े मुसीबत भरे दिन देखे हैं। सरकार से मदद नहीं मिली होती तो हम टूट जाते।   महलगांव निवासी श्रीमती ढक्को बाई का कहना था हमारी जरूरतें बहुत छोटी हैं। आड़े वक्त में मंत्री जी द्वारा दी गई यह सहायता हमारे लिए बहुत बड़ी है। ग्राम बेरजा से आईं श्रीमती उषा अपना चैक दिखाते हुए बोलीं इस आर्थिक सहायता से हमें बड़ा संबल मिला है। इसी तरह आर्थिक सहायता के चैक लेकर अपने घर जा रहीं अन्य महिलाएँ आपस में बतिया रहीं थी कि प्रदेश सरकार हम जैसों की मदद कर सही मायने में गरीबों के आँसू पोंछ रही है।

स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्टों में आधुनिकता के साथ-साथ संस्कृति को सहेजने का कार्य भी हो - सिंधिया

 राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पैदल घूमकर देखे स्मार्ट सिटी के कार्य, म्यूजियम, टाउन हॉल, गोरखी व विक्टोरिया मार्केट का किया अवलोकन

आधुनिकता के साथ-साथ हमारी ऐतिहासिक संस्कृति को भी सहेजकर रखना हमारी जवाबदारी है। स्मार्ट सिटी के माध्यम से किए जा रहे कार्यों में इसका विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। राज्यसभा सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रविवार को महाराज बाड़े पर स्मार्ट सिटी द्वारा निर्मित किए गए डिजिटल म्यूजियम एवं तारामण्डल के साथ-साथ टाउन हॉल का भी निरीक्षण करते हुए यह बात कही।
    राज्यसभा सांसद श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रविवार को पैदल घूमकर ही ग्वालियर की विरासतों का अवलोकन किया। उन्होंने महाराज बाड़ा, गोरखी, विक्टोरिया मार्केट और टाउन हॉल का निरीक्षण किया। स्मार्ट सिटी द्वारा किए जा रहे कार्यों के साथ-साथ उनके भविष्य के प्रस्तावों पर भी विस्तार से चर्चा की। उनके साथ संभागीय आयुक्त श्री आशीष सक्सेना, आईजी श्री अविनाश शर्मा, कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त श्री शिवम वर्मा, सीईओ स्मार्ट सिटी श्रीमती जयति सिंह, पूर्व विधायक श्री मुन्नालाल गोयल, जनप्रतिनिधि एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
    राज्यसभा सांसद श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सर्वप्रथम डिजिटल म्यूजियम का निरीक्षण किया। उन्होंने सम्पूर्ण म्यूजियम का अवलोकन करने के पश्चात स्मार्ट सिटी द्वारा तैयार किए गए म्यूजियम की भूरि-भूरि प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी की टीम ने बहुत ही अच्छा म्यूजियम तैयार किया है। इस म्यूजियम के संधारण और देखरेख की जवाबदारी भी अच्छी तरह से होना चाहिए। म्यूजियम में ग्वालियर की कला, संस्कृति और पुरातात्विक महत्व को बहुत ही अच्छी तरह से प्रदर्शित किया गया है। डिजिटल म्यूजियम न केवल ग्वालियरवासियों के लिये बल्कि ग्वालियर आने वाले हर सैलानी के लिये भी एक जन आकर्षण का केन्द्र बनेगा।
    राज्यसभा सांसद श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इसके पश्चात स्मार्ट सिटी द्वारा तैयार किए जा रहे तारामण्डल का भी अवलोकन किया। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी तत्परता से तारामण्डल का कार्य पूर्ण करे और इसे आम जनों के लिये लोकार्पित भी करे। ग्वालियर में तारामण्डल की स्थापना बहुत दिनों से अपेक्षित थी, जिसे स्मार्ट सिटी पूर्ण करने जा रही है। यह तारामण्डल हमारे नवयुवकों के लिये एक उपहार होगा और उन्हें शिक्षा की दिशा में भी सहयोगी बनेगा। इस तारामण्डल के बन जाने के पश्चात इसका व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाए ताकि न केवल ग्वालियर बल्कि आस-पास के प्रदेश व जिले के लोग भी इसका लाभ उठा सकें।
    राज्यसभा सांसद श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इसके पश्चात गोरखी पहुँचकर स्मार्ट सिटी की भावी योजनाओं के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि जो भी निर्माण कार्य किए जाएं उसमें हमारी संस्कृति को सहेजने का काम हो। आधुनिकता के साथ-साथ संस्कृति की परवरिश और देखरेख करने की हम सबकी पहली जवाबदारी है। श्री सिंधिया ने इसके पश्चात विक्टोरिया मार्केट का भी अवलोकन किया। विक्टोरिया मार्केट की भव्य इमारत में जियोलॉजिकल म्यूजियम बनाया जा रहा है। यह म्यूजियम भारत सरकार द्वारा तैयार किया जा रहा है। इसके बन जाने से भी ग्वालियर में विकास का एक नया अध्याय जुड़ेगा। इस बहुमंजिला इमारत का और बेहतर उपयोग कैसे हो सकता है, इस पर भी गंभीरता से विचार करने की बात उन्होंने कही।
    राज्यसभा सांसद श्री सिंधिया ने इसके पश्चात ग्वालियर के टाउन हॉल का अवलोकन किया। वर्षों के बाद ग्वालियर के टाउन हॉल को स्मार्ट सिटी द्वारा भव्य स्वरूप प्रदान किया गया है। उन्होंने टाउन हॉल की भव्यता को देखकर स्मार्ट सिटी टीम को पुन: बधाई दी। उन्होंने कहा कि इस टाउन हॉल का बेहतर उपयोग हो और अच्छी से अच्छी गतिविधियां यहाँ नियमित रूप से संचालित की जाएं। ग्वालियर के हृदय स्थल महाराज बाड़े पर बने इस भव्य टाउन हॉल का उपयोग संगीत और कला के लिये किया जाए।
    राज्यसभा सांसद श्री सिंधिया ने स्मार्ट सिटी के अधिकारियों को यह भी कहा कि उनके द्वारा तैयार किए गए सभी प्रोजेक्टों से स्मार्ट सिटी को किस प्रकार आय प्राप्त हो सकती है, इस दिशा में सार्थक प्रयास किए जाएं। इन प्रोजेक्टों से प्राप्त होने वाली आय से ही भविष्य में संधारण का कार्य किया जा सकेगा। उन्होंने महाराज बाड़े के मध्य स्थापित उद्यान के विकास और अन्य योजनाओं को भी तत्परता से प्रारंभ करने की बात कही। श्री सिंधिया ने यह भी कहा कि महाराज बाड़े पर पुरातात्विक महत्व के जो भवन एवं अन्य स्मारक हैं उन्हें पूर्व रूप में लाने के लिये भी अगर कोई कार्य आवश्यक है तो किया जाए।
    स्मार्ट सिटी की सीईओ श्रीमती जयति सिंह ने श्री सिंधिया को स्मार्ट सिटी द्वारा किए जा रहे सभी प्रोजेक्टों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने आश्वस्त किया कि स्मार्ट सिटी के सभी प्रोजेक्ट पूर्ण गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में पूर्ण होंगे और ग्वालियर के लोगों को इसका बेहतर लाभ भी मिलेगा।

राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार कुशवाह ने दूरस्थ गाँवों में पहुँचकर सुनीं समस्याएँ किसानों को बताए आय दोगुनी करने के गुर

 उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री भारत सिंह कुशवाह ने रविवार को जिले के दूरस्थ गाँवों में पहुँचकर   जन समस्याएँ सुनीं। साथ ही किसानों को आय दो गुनी करने के गुर बताए।

राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने मुरार जनपद पंचायत के ग्राम बेहट, मढ़ा व दंगियापुरा सहित अन्य ग्रामों की चौपाल पर  बैठकर ग्रामीणों की कठिनाईं एवं समस्याएं सुनीं। उन्होंने कहा ग्रामीणों द्वारा बताईं गईं समस्याओं का समाधान समयबद्ध कार्यक्रम के तहत कराया जाएगा।
श्री कुशवाह ने इस अवसर पर किसानों को सलाह दी कि अपनी आय बढ़ाने के लिए उद्यानिकी से भी जुड़ें। साथ ही खाद्य प्रसंस्करण भी अपनाएं। प्रदेश सरकार उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण के लिए अनुदान देती है। श्री कुशवाह ने कहा कि केवल पारंपरिक फसलों से किसानों की आय दो गुनी नहीं हो सकती। इसके लिए उद्यानिकी जैसी नगदी फसलों को भी अपनाना होगा।

सोमवार, 11 जनवरी 2021

क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला की हरिद्वार कुंभ में भव्य शुरुआत की तैयारी - आरती चौहान

क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला की राष्ट्रीय अध्यक्ष व संस्थापक श्रीमती आरती सिंह चौहान ने दतिया सर्किट हाऊस पर ली प्रेसवार्ता 

दतिया। क्षत्रिय, एक नेतृत्व की क्षमता रखने वाला व्यक्तित्व है जो  समाज के सभी वर्गों को समभाव से विकास ओर विस्तार की नीति से जोड़ता आया है जो स्व-रोजगार, व स्वावलंबन के अवसर प्रदान कर उन्हें संरक्षित करता। अखाड़े से तात्पर्य समाज के सभी वर्गों को एकत्रित होकर धर्म समाज संस्कार व परम्पराओं का पालन कराने का मंच प्रदान करना है, इसी कड़ी में समाज विद्वानों गुरु जनो धर्माचार्यो ओर समाज के उन युवकों द्वारा जमीनी स्तर पर समाज के आर्थिक विकास शिक्षा स्वास्थ्य आदि के विषय में राष्ट्रीय चेतना आदि के विषय में दिशा देने का प्रयास है जिसके सभी वर्ग सहयोगी है जिनके साथ क्षत्रिय अखाड़ा समय समय पर कार्य शालाए चलाता है। 

उक्त बात क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला की संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष आरती चौहान ने सर्किट हाउस पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही। आंगे श्रीमती चैहान कहती है कि भारत में वर्तमान में 23 करोड़ क्षत्रियों की उपस्थिति होने के बाद भी क्षत्रिय समाज की दशा सोचनीय व सम्मान खतरे में है। माना हमने सीमाओं के रक्षार्थ व्यस्त होने के कारण धर्म कार्य ब्राम्हणों को सोप दिया था। और राज काज युद्धों में व्यस्त रहे। 

इस अखाड़े का मुख्य उद्देश्य आज की परिवेश के शिक्षा के साथ साथ शस्त्र ओर शास्त्र में पारंगत होना, रोजगारोन्मुखी कार्यशालाओं, प्रशिक्षण शिविर का आयोजन, सनातन धर्म मे क्षत्रियो का वर्चस्व स्थापित कर शाही स्नान का कुम्भ में अधिकार प्राप्त करना, समाज के युवा वर्ग को इतिहास, क्षत्रियो के योगदान,  त्याग, वलिदान से अवगत कराना है। असहाय निराश्रित लोगो को जीविका का रास्ता उपलब्ध कराना है। हमने भारत के सभी क्षत्रियो को आमंत्रित किया है कि क्षत्रिय अखाड़े में शामिल होकर सम्मानित व गौरवान्वित हो। वर्ष 2019 में प्रयागराज कुम्भ मेले में अखाड़ा प्रवेश पूजा की गई, अब हरिद्वार कुम्भ मेले में क्षत्रिय वैभव व पूरे जोश एवं दल वल के साथ विश्व क्षत्रिय अखाड़ा प्रवेश करेगा। क्षत्रियो की विशिष्ट पहचान और संस्कृति को बनाये रखने हेतु विश्व क्षत्रिय अखाड़ा की स्थापना की गई है। सम्भवता यह पहला अखाड़ा है जो क्षत्रिय को समर्पित है। 

प्रेसवार्ता के पश्चात सर्किट हाऊस पर क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला के जिला अध्यक्ष रविन्द्र कुशवाह एवं उनकी टीम द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती आरती चौहान का माॅ पीताम्बरा तस्वीर भेंट कर स्वागत सम्मान किया गया।

प्रेसवार्ता के दौरान क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला की राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ ही राजदीप सिंह चौहान, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, विनोद कुशवाह मध्यप्रदेश मीडिया प्रभारी, रविन्द्र कुशवाह जिला अध्यक्ष, मंगल सोनी, अनिल रजक, निशांत तिवारी उपस्थित रहे।  




क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती आरती चौहान ने की पीताम्बरा पीठ पर पूजा अर्चना

दतिया। विश्व भारत के 18 करोड़ क्षत्रिय को समर्पित क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला की संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती आरती चैहान अपने निर्धारित दो दिवसीय कार्यक्रम के दौरान दतिया पहुँची है। क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला की राष्ट्रीय अध्यक्ष आरती चैहान व उनकी टीम का आगमन आगामी हरिद्वार कुम्भ मेला 2021 की कार्यक्रम की रूपरेखा के संदर्भ में दतिया आगमन हुआ है। वह आगामी दिवस रविवार को कर्तकर्ताओ की बैठक लेंगी। शनिवार को उन्होंने मा पीताम्बरा पीठ मन्दिर पर मा बगुलामुखी व माँ धूमावती तथा वनखण्डेश्वर महादेव की पूजा अर्चना कर आशीर्वाद लिया। उनके साथ क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजदीप चैहान उपस्थित रहे। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती चैहान के दतिया पहुँचने पर मध्यप्रदेश मीडिया प्रभारी विनोद कुशवाह व जिलाध्यक्ष रविन्द्र कुशवाह ने पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया। 

दतिया। विश्व भारत के 18 करोड़ क्षत्रिय को समर्पित क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला की संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती आरती चैहान अपने निर्धारित दो दिवसीय कार्यक्रम के दौरान दतिया पहुँची है। क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला की राष्ट्रीय अध्यक्ष आरती चैहान व उनकी टीम का आगमन आगामी हरिद्वार कुम्भ मेला 2021 की कार्यक्रम की रूपरेखा के संदर्भ में दतिया आगमन हुआ है। वह आगामी दिवस रविवार को कर्तकर्ताओ की बैठक लेंगी। शनिवार को उन्होंने मा पीताम्बरा पीठ मन्दिर पर मा बगुलामुखी व माँ धूमावती तथा वनखण्डेश्वर महादेव की पूजा अर्चना कर आशीर्वाद लिया। उनके साथ क्षत्रिय अखाड़ा संस्कार शाला के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजदीप चैहान उपस्थित रहे। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती चैहान के दतिया पहुँचने पर मध्यप्रदेश मीडिया प्रभारी विनोद कुशवाह व जिलाध्यक्ष रविन्द्र कुशवाह ने पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया।

अन्नदाता के साथ काॅग्रेस का हाथःडाॅ. सिकरवार , ग्वालियर पूर्व के धरना प्रदर्शन में उमडा जनसैलाब

ग्वालियर। प्रदेष काॅग्रेस कमेटी के आव्हान पर प्रदेष भर में कृशि कानून बिलों के खिलाफ और किसानों के समर्थन में चल रहे धरना प्रदर्षन के क्रम में आज ग्वालियर पूर्व विधानसभा का विषाल धरना इंदरगंज चैराहा पर दिया गया। धरना प्रदर्षन में हजारों की संख्या काॅग्रेस कार्यकर्ता दुपहिया वाहनों, टेक्टरों और बसों से रैली के रूप में धरना स्थल पर पहुॅचे। हाथों में तिरंगा झण्डा लिये सोनिया-कमलनाथ और सतीष सिकरवार जिंदाबाद के नारे लगाते हुये कार्यकर्ता पूरे उत्साह और उमंग में नजर आये। धरने में बडी संख्या में महिलाओं ने भी भागीदारी की। 

     

धरना प्रदर्षन कार्यक्रम में कार्यक्रम संयोजक एवं विधायक डाॅ. सतीष सिंह सिकरवार, षहर जिलाध्यक्ष डाॅ. देवेन्द्र षर्मा, पूर्व सासंद रामसेवक सिंह ‘बाबूजी’, पूर्व मंत्री बालेन्दु षुक्ला, पूर्व जिलाध्यक्ष चन्द्रमोहन नागौरी, महिला काॅग्रेस जिलाध्यक्ष रूचिराय ठाकुर मुख्य रूप से मौजूद रहे। धरना स्थल पर वक्ताओं ने किसानों के धरना आंदोलन का पुरजोर समर्थन करते हुये कहा कि केन्द्र सरकार उद्योगपतियों के ईषारे पर किसानों के खिलाफ काले कानून के रूप में कृशि बिल लाई है, जिसका काॅग्रेस पार्टी विरोध करती है। षहर जिला काॅग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डाॅ. देवेन्द्र षर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि सरकार किसानों के आंदोलन को लेकर असंवेदनषील नजर आ रही है, यह कृशि बिल अडानी और अंबानी जैसे उद्योगपतियों को फायदा देने वाले हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार मंडियां और एम.एस.पी. खत्म करके किसानों के षोशण पर आमादा है, जिसे बर्दाषत नहीं किया जायेगा। 

डाॅ. षर्मा ने कहा कि पूरे देष की अर्थव्यवस्था कृशि पर निर्भर है और सरकार किसानों को उद्योगपतियों की गुलामी की ओर धकेल रही है। उन्होंने काॅग्रेस कार्यकर्ताओं का आव्हान किया कि जिस बडी संख्या में आज इस धरना प्रदर्षन में षामिल हुये हैं उसी तरह आगे के आंदोलनों में भी कार्यकर्ताओं को भागीदारी निभाना है। धरना को संबोधित करते हुये कार्यक्रम संयोजक एवं विधायक डाॅ. सतीष सिंह सिकरवार ने कहा कि अन्नदाताओं के साथ कांग्रेस का हाथ है और यह पूरी मजबूती के साथ उनके आंदोलन में भागीदारी निभा रहा है और आगे भी निभाऐगा। उन्होने कहा कि किसान दिल्ली के आस-पास कडाके की ठंड में सड़कांे पर बैठा हुआ है और केन्द्र सरकार गूंगी-बहरी बनकर सोई हुई है। उन्हांेने कहा कि काॅग्रेस पार्टी का इतिहास रहा है कि जब भी कोई आंदोलन खडे किये तब वे सफल रहे, यहां तक कि आजादी की लड़ाई में इन्ही आंदोलनों के माध्यम से अंग्रेजांे को तक खदेड़ दिया था। उन्होंने पार्टी संगठन में अनुषासन पर जोर देते हुये कहा कि किसी भी संगठन की मजबूती के लिये अनुषासन बहुत जरूरी है। अनुषासन से ही संगठन को मजबूत बनाया जा सकता है। डाॅ. सिकरवार ने ऐतहासिक धरना प्रदर्षन में षामिल हुये हजारों कार्यकर्ताओं का एवं नेताओं का धन्यवाद भी ज्ञापित किया। इससे पहले काॅग्रेस के पूर्व अध्यक्ष चन्द्रमोहन नागौरी ने अपने विचार व्यक्त करते हुये कहा कि मोदी सरकार अब अपना जनादेष खोती जा रही है। जनता जर्नादन बदलाव चाहती है, उन्होंने कहा कि डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस एवं खाद्यानों की बढती मंहगाई से आम आदमी परेषान है। केन्द्र सरकार ने कृशि बिल के रूप में जो काला कानून पेष किया है उसका असर न केवल किसानों पर पडेगा ब्लकि आम आदमी पर मंहगाई के रूप में असर पडेगा। धरना प्रदर्षन को काॅग्रेस नेता अमर सिंह माहौर, मोहन महेष्वरी, राम पाण्डे, केदार सिंह कंशाना, वीना भारद्वाज आदि ने भी संबोधित किया। संचालन पार्टी प्रवक्ता धमेन्द्र षर्मा ने एवं आभार कार्यक्रम संयोजक एवं विधायक डाॅ. सतीष सिंह सिकरवार ने व्यक्त किया। कार्यक्रम में कृश्णराव दीक्षित, अवधेष कौरव, महाराज सिंह पटेल, चतुर्भुज धन्नोलिया, वीर सिंह तोमर, आषीश अरजरिया, सीमा समाधिया, सरमन सिंह राय, सिद्धार्थ सिंह राजावत, अषोक प्रेमी, जे.एच. जाफरी, प्रेम सिंह यादव, विनोदी जैन, राकेष गुर्जर, कल्लू तोमर, नगरपाल आर्य, कुसुम षर्मा, पूर्व पार्शद नरेन्द्र सिंह, उशा गहलोत, अख्तर हुसैन कुरैषी आदि समेत हजारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे। धरना प्रदर्षन समापन से पहले किसान आंदोलन में षहीद हुये किसानों को दो मिनिट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की।  



राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान 17 से 19 जनवरी तक

 ग्वालियर सहित प्रदेश के सभी जिलों में 17 से 19 जनवरी तक राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान चलाया जायेगा। अभियान के तहत जन्म से पांच वर्ष तक के सभी बच्चो को सूचीबद्व कर “दो बूंद जिदंगी की” यानि पल्स पोलियो खुराक दी जाएगी।

इस अभियान की सूक्ष्म कार्ययोजना निर्माण, प्रशिक्षण, अंतरविभागीय समन्वय, जिला टास्क फोर्स की बैठक, वृहत प्रचार-प्रसार, प्रिन्टिंग, कोल्ड चैन प्लान, फ्रीजिंग प्लान एवं अभियान के लिए अन्य गतिविधियों के सफल संचालन के लिए समय-सीमा तथा अधिकारी, कर्मचारियों की जबावदेही का निर्धारण किया गया है।

मध्यप्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2020 शनिवार से लागू हो गया है - डॉ. मिश्रा

 गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने  बताया है कि शनिवार से  मध्यप्रदेश में  "धार्मिक स्वतंत्रता  अधिनियम 2020"  ने मूर्तरूप ले लिया है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता अध्यादेश 2020 का गजट नोटिफिकेशन जारी हो गया है। शनिवार से ही कानून लागू हो गया है। अब जबरन, भयपूर्वक, डरा- धमका कर, प्रलोभन देकर, बहला-फुसलाकर धर्म परिवर्तन करवा कर विवाह करने और करवाने वाले व्यक्ति,संस्था अथवा स्वयंसेवी संस्था की शिकायत प्राप्त होते ही तत्काल अध्यादेश में किए गए प्रावधानों के मुताबिक संबंधितों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।

किसान आय बढ़ाने के लिये उद्यानिकी फसलों को प्राथमिकता दें – राज्यमंत्री कुशवाह किसान आत्मनिर्भर होगा तभी प्रदेश और देश आत्मनिर्भर बनेगा – सांसद श्री शेजवलकर

किसानों को अपनी आय बढ़ाने के लिये खेती के साथ-साथ उद्यानिकी को भी अपनाना होगा। किसान की आय दोगुनी करने में उद्यानिकी फसलें मददगार बनेंगीं। किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में प्रदेश सरकार द्वारा कारगर प्रयास किए जा रहे हैं। प्रदेश के उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री भारत सिंह कुशवाह ने रविवार को मुरार विकासखण्ड के कृषक प्रशिक्षण शिविर में मुख्य अतिथि के रूप में यह बात कही।
    विक्रांत कॉलेज के सभागार में आयोजित किसान प्रशिक्षण शिविर में कार्यक्रम की अध्यक्षता क्षेत्रीय सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने की। इस मौके पर विशेष अतिथि के रूप में भाजपा जिला अध्यक्ष श्री कमल माखीजानी उपस्थित थे। प्रशिक्षण में उद्यानिकी विभाग के संयुक्त संचालक श्री राजेन्द्र राजौरिया, विक्रांत कॉलेज के डायरेक्टर श्री राठौर सहित कृषि विशेषज्ञ एवं किसान भाई उपस्थित थे।
    उद्यानिकी राज्यमंत्री श्री कुशवाह ने कहा कि प्रदेश में 20 विकासखण्डों को उद्यानिकी के क्षेत्र में मॉडल विकासखण्ड बनाने का निर्णय लिया गया है। इसमें मुरार विकासखण्ड भी शामिल है। चयनित सभी विकासखण्डों में उद्यानिकी को बढ़ावा देने के लिये विशेष प्रयास किए जायेंगे। उन्होंने कहा कि खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिये किसानों के हित में सरकार ने अनेक निर्णय लिए हैं। मध्यप्रदेश में कृषि उपज का रिकॉर्ड भी प्रदेश सरकार ने बनाया है। अब हमें उद्यानिकी के रकबे को भी बढ़ाने के प्रयास करने होंगे। उद्यानिकी फसलों के माध्यम से ही किसानों की आय में बढ़ोत्तरी होगी।
    मंत्री श्री भारत सिंह कुशवाह ने कहा कि किसान भाई अपने व्यवहारिक ज्ञान के साथ अगर विज्ञान को जोडकर उद्यानिकी फसलें करें तो उन्हें और अधिक लाभ मिल सकता है। प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के हित में किए जा रहे कार्यों से किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के रास्ते आसान हुए हैं। अब किसानों को अपने कोल्ड स्टोरेज निर्माण के लिये भी 50 प्रतिशत तक अनुदान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिये खेती के साथ-साथ उद्यानिकी फसलों को भी किसान लें, इसके लिये किसानों को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है।
    कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए क्षेत्रीय सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने कहा कि ग्वालियर के किसान भाईयों के लिये यह एक सुनहरा अवसर है जब प्रदेश का उद्यानिकी राज्यमंत्री और देश का कृषि मंत्री दोनों ही ग्वालियर के हैं। किसान भाई केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेकर ग्वालियर को कृषि के क्षेत्र में एक मॉडल जिला बनाएँ। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जब सभी व्यवसाय पूरी तरह से ध्वस्त हो गए थे तब भी किसान भाईयों ने अपनी मेहनत से खेतों में खाद्यान्न उत्पादन किया। श्री शेजवलकर ने कहा कि कोरोना काल में किसान न केवल अन्नदाता बना बल्कि अभयदाता भी सिद्ध हुआ है।
    सांसद श्री शेजवलकर ने कहा कि हमारे देश में जितना विकास औद्योगिक क्षेत्र में हुआ है उतना विकास कृषि के क्षेत्र में नहीं हो पाया है। हमें कृषि को लाभ का धंधा बनाना होगा और किसानों को आत्मनिर्भर बनाना होगा। जब हमारा किसान आत्मनिर्भर होगा तब हमारा प्रदेश और देश आत्मनिर्भर होगा। उन्होंने कहा कि किसानों के हित में प्रदेश व देश की सरकार कार्य कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि देश की सरकार ने किसानों के हित में जो कानून बनाए हैं उससे किसानों को बहुत लाभ होने वाला है।
    कार्यक्रम में भाजपा जिला अध्यक्ष श्री कमल माखीजानी ने कहा कि किसानों की उन्नति के लिये प्रदेश सरकार द्वारा जो कृषक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं उससे किसानों को आधुनिक तकनीक की जानकारी मिलेगी और उनकी खेती में बढ़ोत्तरी होगी। आधुनिक तरीके से किस प्रकार खेती को लाभ का धंधा बनाया जा सकता है। इसके लिये प्रशिक्षण ले रहे सभी किसानों को बधाई।
    कार्यक्रम के प्रारंभ में संयुक्त संचालक उद्यानिकी श्री राजेन्द्र राजौरिया ने प्रशिक्षण शिविर के उद्देश्य पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि हमें केवल उत्पादन ही नहीं बढ़ाना है बल्कि गुणवत्तापूर्ण उत्पादन पर विशेष ध्यान देना है। प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश में 20 विकासखण्डों को मॉडल विकासखण्ड के रूप में विकसित करने का जो निर्णय लिया गया है उसके लिये विभागीय स्तर पर विस्तृत प्लान तैयार किया जा रहा है। आने वाले दिनों में मॉडल विकासखण्डों में उद्यानिकी की उपज गुणवत्ता के साथ किसान ले सकेंगे, इसके लिये कार्य किया जायेगा।
    प्रशिक्षण कार्यक्रम में कृषि अनुसंधान केन्द्र एवं कृषि महाविद्यालय के विषय विशेषज्ञों ने किसानों को विस्तार से प्रशिक्षण दिया। किसानों द्वारा भी पूछे गए प्रश्नों का विशेषज्ञों ने समाधानपूर्वक जवाब दिया। प्रशिक्षण कार्यक्रम का प्रारंभ दीप प्रज्ज्वलन एवं बालिका पूजन के साथ हुआ। 

रविवार, 10 जनवरी 2021

बिल्हेटी क्षेत्र में औद्योगिक इकाईयाँ स्थापित करने के प्रयास होंगे

फोटो डाउनलोडेबल तथा एनलार्जेनेबल नहीं है, जन संपर्क विभाग की वेबसाइट त्रुटि दर्शा रही है 

ग्वालियर जिला की सीमा पर स्थित ग्राम बिल्हेटी से होकर औद्योगिक क्षेत्र मालनपुर को जोड़ते हुए चौड़ी सड़क का निर्माण कराया गया है। साथ ही इस सड़क के दोनों ओर स्थित बिजली, पानी व अन्य सुविधायें जुटाई गई हैं। इस सड़क को मॉडल बतौर विकसित किया जायेगा। साथ ही औद्योगिक निवेश के भी गंभीरता से प्रयास किए जायेंगे। यह बात उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री भारत सिंह कुशवाह ने कही। श्री कुशवाह शनिवार को बिल्हेटी में आयोजित हुए जन समस्या निवारण शिविर सह विकास कार्यों के भूमिपूजन एवं लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।
    राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने बिल्हेटी में लगभग एक करोड़ 81 लाख रूपए की लागत से बनने जा रही नल-जल योजना की अधारशिला रखी। साथ ही कहा कि जल्द ही बिल्हेटी के हर घर में नल से पानी पहुँचेगा। उन्होंने इस अवसर पर 7 विकास कार्यों का लोकार्पण किया। जिसमें यहाँ के बाल्मीकि मोहल्ला व कुशवाह मोहल्ला में अलग-अलग बनाए गए सामुदायिक भवन, दो आंगनबाड़ी केन्द्रों के अलग-अलग भवन, चौपाल निर्माण, स्वच्छता परिसर एवं शांतिधाम की बाउण्ड्रीवॉल का लोकार्पण किया।
    इस अवसर पर राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने किसानों से उद्यानिकी फसलें अपनाने का आह्वान किया। साथ ही कहा कि बिल्हेटी सहित मुरार विकासखण्ड के सभी ग्रामों में युवाओं को कम्प्यूटर प्रशिक्षण देने की व्यवस्था सरकार करने जा रही है। इसी तरह खासतौर पर वरिष्ठ नागरिकों के लिये नि:शुल्क दंत चिकित्सा शिविर लगाए जायेंगे।
    बिल्हेटी में आयोजित हुए जन समस्या निवारण शिविर में दो दर्जन से अधिक आवेदन प्राप्त हुए। राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने इन सभी आवेदनों को एक हफ्ते में निराकृत करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इस अवसर पर लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रमाण-पत्र भी वितरित किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्राम पंचायत के सरपंच श्री राघवेन्द्र मुदगल ने की। इस अवसर पर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधिगण सहित विभिन्न विभागों के जिला एवं खण्ड स्तरीय अधिकारी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन जनपद पंचायत के सीइओ श्री राजीव मिश्रा ने किया

अंधाधुंध अघोषित बिजली कटौती से नाराज हुये कांग्रेस के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक सिंह, कहा आम जनता की समस्या तुरंत हल करें वरना ...


 

शनिवार, 9 जनवरी 2021

तीन बार फेल हुआ ग्वालियर जिला जनसंपर्क की वेबसाइट का सर्वर आज


ग्वालियर जिला जनसंपर्क कार्यालय की वेबसाइट का सर्वर आज समाचार अपडेट करते समय तीन बार फेल हो गया , जिसका स्क्रीन शॉट ग्वालियर टाइम्स द्वारा लिया गया ..... देंखें   

कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन जेएएच कैंपस के टीबी अस्पताल में हुआ संभागीय आयुक्त सक्सेना ने किया अवलोकन, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

आनलाइन आई डी चेक करके ही वैक्सीन लगेगी
 कोविड-19 की वैक्सीन लगाने की ड्राई रन आज ग्वालियर जिले में की गई। तीन स्वास्थ्य संस्थाओं में ड्राई रन प्रात: 9 से 11 बजे तक हुई। इनमें जयारोग्य चिकित्सालय के टीबी अस्पताल , सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भितरवार तथा रतन ज्योति नेत्रालय शामिल है। संभागीय आयुक्त श्री आशीष सक्सेना ने टीबी अस्पताल पहुँचकर ड्राई रन का अवलोकन किया और व्यवस्थाओं को देखा। उन्होंने इस संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए।

    जयारोग्य चिकित्सालय समूह में आयोजित ड्राई रन में डीन मेडीकल कॉलेज डॉ. एस एन अयंगर, अधीक्षक जयारोग्य चिकित्सालय श्री आर एस धाकड़, सीएमएचओ डॉ. मनीष शर्मा सहित चिकित्सक और विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
    ड्राई रन के दौरान बताया गया कि सर्वप्रथम स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को कोरोना वैक्सीन लगाई जाना है। ग्वालियर जिले में प्रथम चरण में 6 हजार 849 शासकीय तथा 4 हजार 966 प्राइवेट कुल 11 हजार 815 स्वास्थ्य से जुड़े कर्मचारियों को वैक्सीन लगाई जायेगी। इसके लिये एक हजार 339 शासकीय तथा 1402 प्राइवेट कुल 2 हजार 41 कर्मचारियों को वैक्सीन लगाने के कार्य हेतु तैनात किया जायेगा। वैक्सीन लगाने वाले सभी कर्मियों को विधिवत प्रशिक्षण भी दिया जायेगा।
    संभाग आयुक्त श्री सक्सेना ने वैक्सीन की ड्राई रन में अपनाई जाने वाली पूरी प्रक्रिया को समझा। उन्होंने चिकित्सकों को निर्देशित किया कि शासन की गाइडलाइन के अनुसार ही कोविड की वैक्सीन लगाने का कार्य किया जाए। इसके लिये सम्पूर्ण अमले को अच्छे से प्रशिक्षित भी किया जाए। प्रथम चरण में जिन स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को वैक्सीन लगाई जाना है उनका चिन्हांकन भी किया जाए।
    ड्राई रन के दौरान प्रक्रिया में बताया गया कि सर्वप्रथम वैक्सीन लगाने वाले व्यक्ति को प्रवेश स्थल पर ही सेनेटाइजर उपलब्ध कराया जायेगा। उसके पश्चात उसकी आईडी को ऑनलाइन चैक कर वैक्सीन लगाने की प्रक्रिया की जायेगी।

ठाठीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना का कार्य शीघ्र प्रारंभ होगा , प्रथम चरण में 798 आवासों का निर्माण होगा, पूर्व कलेक्टर मुरैना एवं हाउसिंग बोर्ड आयुक्त भरत यादव की उपस्थिति में परियोजना की हुई बैठक

ठाठीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना को हाउसिंग बोर्ड शीघ्र कार्य प्रारंभ करेगा। प्रथम चरण में 798 आवासों का निर्माण होगा। इसके साथ ही स्कूल और ऑफिस परिसर भी विकसित किया जायेगा। मध्यप्रदेश हाउसिंग बोर्ड के आयुक्त श्री भरत यादव की उपस्थिति में संभागीय आयुक्त श्री आशीष सक्सेना एवं कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने परियोजना के संबंध में कलेक्ट्रेट कार्यालय में बैठक ली और संबंधित विभागीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए।
    शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में ठाठीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना के संबंध में एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। बैठक में हाउसिंग बोर्ड के आयुक्त श्री भरत यादव ने बताया कि ठाठीपुर में बहुप्रतीक्षित परियोजना के तहत हाउसिंग बोर्ड द्वारा तीन चरणों में कार्य किया जाना है। प्रथम चरण में हाउसिंग बोर्ड द्वारा 798 आवासों का निर्माण करने के साथ ही स्कूल भवन एवं ऑफिस परिसर का निर्माण किया जायेगा। यह कार्य शीघ्र ही प्रारंभ होगा।
    बैठक में बताया गया कि 30.06 हैक्टेयर क्षेत्र में यह परियोजना कार्य करेगी। प्रथम चरण में आवासों के निर्माण हेतु 235 शासकीय आवासों को खाली कराया जायेगा। आवासों में रहने वाले लोगों के लिये अन्यत्र व्यवस्था की जायेगी। हाउसिंग बोर्ड की ओर से उन्हें किराया देने का भी प्रावधान होगा। प्रथम चरण में काम करने के पश्चात द्वितीय एवं तृतीय चरण में भी कार्य किया जायेगा।
    संभागीय आयुक्त श्री सक्सेना ने बैठक में कहा कि हाउसिंग बोर्ड द्वारा ठाठीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना के तहत जो कार्य किया जाना है उसके लिये लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री, उस क्षेत्र के शासकीय भवनों की पूरी रिपोर्ट तीन दिन में प्रस्तुत करें। इसके साथ ही नगर निगम एवं वन विभाग संयुक्त रूप से उस क्षेत्र में आने वाले वृक्षों का सर्वेक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होंने हाउसिंग बोर्ड के अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया कि वृक्ष कटाई के लिये वे विधिवत आवेदन नगर निगम में प्रस्तुत करें। इसके साथ ही आवास निर्माण की अनुमति के लिये भी विधिवत आवेदन प्रस्तुत किया जाए।
    बैठक में सर्वसम्मति से तय किया गया कि पुनर्घनत्वीकरण योजना के क्रियान्वयन से जो पेड़ हटाए जाना आवश्यक होंगे उनके स्थान पर सिरोल पहाड़ी पर वृक्षारोपण का कार्य विभाग करे। यह भी तय किया गया कि योजना के तहत स्कूल का निर्माण पहले किया जाए ताकि पुराने स्कूल भवन को हटाने से पूर्व नया भवन बनकर तैयार हो जाए।
    कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि ग्वालियर की यह बहुत ही महत्वपूर्ण परियोजना है। इसके क्रियान्वयन में आने वाली समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु एडीएम की अध्यक्षता में उप समिति भी गठित की जायेगी। जिसमें नगर निगम, लोक निर्माण विभाग, विद्युत, वन एवं अन्य विभागीय अधिकारियों को रखा जायेगा। यह समिति समय-समय पर आने वाली समस्याओं के निराकरण की पहल करेगी। उन्होंने आश्वस्त किया कि परियोजना क्षेत्र में आने वाले शासकीय मकानों को खाली कराने का कार्य तत्परता से किया जायेगा। आवासों में रहने वाले सभी लोगों को उचित स्थान भी उपलब्ध कराया जायेगा।
    हाउसिंग बोर्ड के आयुक्त श्री भरत यादव ने बताया कि इस महत्वपूर्ण परियोजना को तेजी से पूर्ण करने हेतु हाउसिंग बोर्ड कटिबद्ध है। इस परियोजना के बन जाने से ठाठीपुर क्षेत्र के विकास में एक नया अध्याय जुड़ेगा। यहाँ लोगों को अच्छे आवास उपलब्ध होंगे। आवास उपलब्ध कराने के साथ-साथ व्यवसायिक गतिविधियों को भी उचित स्थान दिया जायेगा।
    बैठक में अपर कलेक्टर श्री आशीष तिवारी, प्रभारी नगर निगम आयुक्त श्री नरोत्तम भार्गव, ग्वालियर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री ए के गौर, संयुक्त संचालक नगर एवं ग्राम निवेश श्री बी के शर्मा, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग, जिला शिक्षा अधिकारी श्री संजय जोशी सहित हाउसिंग बोर्ड और अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।  

ग्वालियर-चंबल संभाग के सभी जिलों में रेत वाहनों की चैकिंग निर्धारित चौकी पर ही होगी

 सभी जिलों में चौकियाँ स्थापित की जायेंगीं संभाग आयुक्त एवं आईजी ने रेत परिवहन के संबंध में बैठक लेकर दिए निर्देश 

ग्वालियर-चंबल संभाग में रेत वाहनों की चैकिंग अब निर्धारित चैक प्वॉइंट पर ही होगी। चैक प्वॉइंट के अतिरिक्त कहीं पर भी रेत वाहनों को रोककर चैक नहीं किया जायेगा। निर्धारित चैक पोस्ट ग्वालियर संभाग के प्रत्येक जिले में बनाए जायेंगे। इन प्वॉइंटों पर राजस्व, पुलिस, वन एवं खनिज विभाग के अधिकारियों को तैनात किया जायेगा। चैक प्वॉइंट 24X7 संचालित रहेंगे। सभी चैकिंग प्वॉइंट 15 जनवरी से प्रभावशील होंगे।
    संभागीय आयुक्त श्री आशीष सक्सेना, आईजी ग्वालियर श्री अविनाश शर्मा एवं आईजी चंबल श्री मनोज शर्मा की उपस्थिति में शुक्रवार को मोतीमहल के मानसभागार में रेत ठेकेदारों और विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक में यह तय किया गया है। बैठक में डीआईजी ग्वालियर श्री सचिन अतुलकर, कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी सहित दतिया, मुरैना व भिण्ड जिले के पुलिस अधीक्षक एवं सभी जिलों के खनिज अधिकारी और ग्वालियर-चंबल संभाग में कार्यरत रेत ठेकेदार उपस्थित थे।
    संभागीय आयुक्त श्री आशीष सक्सेना ने बैठक में कहा कि ग्वालियर-चंबल संभाग में वैध ठेकेदारों को रेत के परिवहन एवं विक्रय में किसी प्रकार की परेशानी नहीं आयेगी। संभाग के सभी जिलों में चैकिंग के लिये निर्धारित प्वॉइंट बनाए जायेंगे। इन प्वॉइंटों पर ही चैकिंग की जायेगी। रेत के वाहनों को अनावश्यक रूप से कहीं पर भी रोककर चैकिंग नहीं की जायेगी। चैकिंग प्वॉइंट पर भी रॉयल्टी एवं क्षमता की ही जाँच की जायेगी। चैकिंग प्वॉइंटों पर अनावश्यक रूप से वाहन न रूकें, यह भी सुनिश्चित किया जायेगा।
    बैठक में यह भी तय किया गया कि जिला स्तर पर कलेक्टर अपने जिले में एक फ्लाइंग स्क्वॉयड भी बनायेंगे, जिसमें तहसीलदार अथवा नायब तहसीलदार स्तर के अधिकारी प्रभारी के रूप में रहेंगे। उनके साथ पुलिस और खनिज विभाग के अधिकारियों को भी तैनात किया जायेगा। यह फ्लाइंग स्क्वॉयड शिकायत मिलने पर जाँच के लिये पहुँचेगी और कार्रवाई करेगी।
    आईजी ग्वालियर श्री अविनाश शर्मा ने बैठक में कहा कि शासन के द्वारा निर्धारित निर्देशों का पालन भी रेत ठेकेदारों को करना जरूरी है। निर्धारित स्थल से ही रेत का खनन किया जाए। चंबल से रेत निकालना पूर्णत: प्रतिबंधित है। कोई भी ठेकेदार चंबल से रेत नहीं निकाल सकता है। इसके साथ ही सभी रेत ठेकेदार यह भी सुनिश्चित करें कि वाहन रॉयल्टी के साथ निर्धारित मात्रा में ही रेत लेकर निकलें। उन्होंने सभी जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक से भी कहा कि वे चैकिंग प्वॉइंट पर लगने वाले दल को भी अपने स्तर से प्रशिक्षित करें, ताकि यह स्पष्ट हो सके कि चैकिंग प्वॉइंट पर क्या करना है और क्या नहीं । बैठक में ठेकेदारों ने भी अपनी-अपनी समस्याओं से अवगत कराया। अधिकारियों ने सभी समस्याओं को गंभीरता से सुना और आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए।

किसान उत्पादक के साथ कारोबारी भी बनें, सरकार हर संभव मदद करेगी –भारत सिंह कुशवाह

( फोटो एनलार्जेबल और डाउनलोडेबल नहीं है ) 

 किसान फसल उत्पादक के साथ-साथ खाद्य प्रसंस्करण से जुड़कर उपज  के कारोबारी भी बनें। खाद्य प्रसंस्करण कारोबार से जुड़ने के लिये प्रदेश सरकार किसानों को आर्थिक मदद के साथ-साथ तकनीकी कौशल भी मुहैया करायेगी। यह बात उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री भारत सिंह कुशवाह ने उटीला में आयोजित हुए जन समस्या निवारण शिविर सह लोकार्पण एवं भूमिपूजन कार्यक्रम में मौजूद किसानों से कही। श्री कुशवाह ने कहा कि उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण से जुड़कर परिवार के मुखिया ही नहीं सभी सदस्य आत्मनिर्भर बन सकते हैं।
श्री कुशवाह ने इस अवसर पर लगभग 2 करोड़ 54 लाख रूपए लागत के 17 विकास कार्यों का भूमिपूजन किया। जिसमें लगभग 192 लाख रूपए लागत से मूर्तरूप लेने जा रही नल-जल योजना शामिल है। इस योजना से उटीलावासियों को घर-घर नल से पानी उपलब्ध होगा। जिन कार्यों का भूमिपूजन किया गया, उनमें नल-जल योजना सहित 10 सीसी रोड़, एक सामुदायिक भवन, तीन मोहल्लों में चौपाल निर्माण तथा अस्पताल व थाना परिसर की बाउण्ड्रीवॉल शामिल है। इस अवसर पर उन्होंने लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रमाण-पत्र भी वितरित किए।
    शुक्रवार को उटीला के हाट बाजार परिसर में आयोजित हुए कार्यक्रम में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री भारत सिंह कुशवाह ने कहा कि पारंपरिक खेती पर निर्भर रहकर किसान अपनी आय दोगुनी नहीं कर सकते हैं। इसके लिये उन्हें उद्यानिकी फसलें अपनानी होंगीं। साथ ही अपनी उपज के अधिक दाम प्राप्त करने के लिये खाद्य प्रसंस्करण व्यवसाय से भी जुड़ना होगा। उन्होंने कहा सरकार ने उद्यानिकी को बढ़ावा देने के लिये रोड़मैप तैयार कर लिया है। किसान इसका लाभ लेने के लिये आगे आएँ। सरकार द्वारा उद्यानिकी फसल और छोटे-बड़े कोल्ड स्टोर निर्माण के लिये 50 प्रतिशत तक अनुदान दिया जाता है।
   राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने इस अवसर पर जानकारी दी कि तानसेन की जन्मस्थली बेहट, भदावना,  काशीबाबा देव स्थल, देवगढ़ किला एवं जागेश्वर मंदिर को जोड़ते हुए एक टूरिस्ट सर्किट की कार्ययोजना बनाई गई है। इस टूरिस्ट सर्किल को दतिया जिले में स्थित प्रसिद्ध रतनगढ़ माता मंदिर, पीताम्बरा माई एवं ओरछा टूरिस्ट सर्किट से जोड़ा जायेगा।
    कार्यक्रम में बेहट ग्राम पंचायत के सरपंच श्री सुधाकर पाठक तथा सर्वश्री केशव सिंह गुर्जर, प्रेम सिंह राजपूत, जगदीश सेंथिया व दीवान सिंह गुर्जर सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, अनुविभागीय राजस्व अधिकारी श्री विनोद भार्गव, जनपद पंचायत के सीईओ श्री राजीव मिश्रा, तहसीलदार श्री कुलदीप दुबे सहित विभिन्न विभागों के जिला व खण्ड स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

उद्यानिकी के मॉडल के रूप में विकसित होगा मुरार विकासखण्ड

    उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री श्री भारत सिंह कुशवाह ने इस अवसर पर जानकारी दी कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के 20 विकासखण्डों को उद्यानिकी फसलों के लिये मॉडल के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया है। इसमें मुरार विकासखण्ड भी शामिल है।

समस्याओं के निराकरण में ढ़िलाई हुई तो संबंधित अधिकारी जवाबदेह होंगे

    उटीला में आयोजित हुए जन समस्या निवारण शिविर में जन सामान्य की ओर से कुल 60 आवेदन प्राप्त हुए। राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री भारत सिंह कुशवाह ने विभागीय अधिकारियों को एक हफ्ते के भीतर इन समस्याओं का समाधान करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा समस्याओं के निराकरण की सूचना संबंधित आवेदक को भी दी जाए। उन्होंने कहा एक हफ्ते बाद वे स्वयं इन आवेदनों के निराकरण की समीक्षा करेंगे। श्री कुशवाह ने अधिकारियों को आगाह करते हुए कहा कि जो अधिकारी आवेदनों के निराकरण में ढ़िलाई बरतेंगे उन्हें जवाबदेह मानकर कार्रवाई की जायेगी।

केंद्रीय मंत्री का चंबल पर भव्य स्वागत , केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने की अगवानी , भव्य रोड रथ पर रोड शो किया

  देश और प्रदेश का विकास ही मुख्य मकसद - केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री सिधिंया  मुरैना 22 सितम्बर 2021/केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ...