मंगलवार, 29 दिसंबर 2020

कलेक्टर ने दिए निर्देश, डबरा के मुख्य नगर पालिका अधिकारी के खिलाफ होगी निलंबन की कार्रवाई, राशन वितरण और समर्थन मूल्य पर धान खरीदी में गड़बड़ी करने वाले जायेंगे जेल


घर-घर जाकर दें पात्रता पर्ची और उचित मूल्य की दुकान खुलवाकर दिलाएँ राशन
अंतरविभागीय समन्वय समिति की बैठक में कलेक्टर ने दिए निर्देश, डबरा के मुख्य नगर पालिका अधिकारी के खिलाफ होगी निलंबन की कार्रवाई, राशन वितरण और समर्थन मूल्य पर धान खरीदी में गड़बड़ी करने वाले जायेंगे जेल

सभी पात्र परिवारों को घर-घर जाकर पात्रता पर्चियाँ दें और उन्हें उचित मूल्य की दुकानों से राशन भी दिलवाएँ। इसमें किसी भी प्रकार की ढ़िलाई पर कठोरतम कार्रवाई होगी। यह निर्देश कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने अंतरविभागीय समन्वय समिति की बैठक में सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारी तथा राशन वितरण से जुड़े विभागों के अधिकारियों को दिए। उन्होंने समीक्षा के दौरान नगर पालिका क्षेत्र डबरा में पात्रता पर्ची व राशन वितरण की स्थिति ठीक न पाए जाने पर वहाँ के मुख्य नगर पालिका अधिकारी को निलंबित करने के निर्देश दिए। साथ ही जिले के शेष सभी पात्र परिवारों को दो दिन के भीतर पात्रता पर्ची एवं राशन वितरित कराने के निर्देश भी संबंधित अधिकारियों को दिए।
    कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने स्पष्ट किया कि उचित मूल्य की दुकानों से राशन व मिट्टी का तेल (केरोसिन) वितरण में गड़बड़ी पाए जाने पर संबंधित समिति प्रबंधक के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा राशन की कालाबाजारी व गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ रासुका लगाई जायेगी। कलेक्टर ने बैठक में जोर देकर कहा कि समर्थन मूल्य पर जिन किसानों से धान खरीदा गया है उनकी पाई-पाई का हिसाब चुकता करें। साथ ही कहा कि धान खरीदी में गड़बड़ी करने वाली प्राथमिक साख सहकारी समितियों के प्रबंधकों एवं परिवहनकर्ताओं को जेल भेजने की कार्रवाई की जायेगी। साथ ही उनकी सम्पत्ति कुर्क कर नीलाम करने की कार्रवाई भी होगी। श्री सिंह ने केरोसिन वितरण की कड़ाई से निगरानी रखने पर विशेष बल दिया। साथ ही निर्देश दिए कि केरोसिन वितरण में गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की जाए। कलेक्टर ने सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारियों को राशन वितरण पर कड़ी निगरानी रखने की हिदायत दी।  
    समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने यह भी कहा कि जो संस्थायें राशन वितरण में गड़बड़ी करेंगीं उनसे यह काम वापस लेकर राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के स्व-सहायता समूहों को दिया जायेगा। उन्होंने जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से इस काम के लिये समूहों को तैयार करने को कहा।
    बैठक में सीएम हैल्पलाइन, राजस्व न्यायालयों में प्रकरणों का निराकरण, प्रधानमंत्री स्व-निधि एवं मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना, मिलावट से मुक्ति अभियान सहित सरकार की अन्य प्राथमिकता वाली योजनाओं की भी समीक्षा की गई।
    बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री शिवम वर्मा, अपर कलेक्टर श्री आशीष तिवारी, श्री टी एन सिंह व श्री रिंकेश वैश्य एवं जिले के सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी: केवल इस ब्लॉग का सदस्य टिप्पणी भेज सकता है.

हाईकोर्ट और सीनियर आई पी एस ने दर्ज कराई एफ आई आर बीस साल पहले , सरकारी धन के गबन और डकैती , भ्रष्टाचार , हरिजन एक्ट के मुलजिम न तो पकड़े और सरकार, कोर्ट ,कानून सबकी ऑंखों में धूल झोंकती रही मुरैना पुलिस

 मुरैना 15 सितंबर ( ग्वालियर टाइम्स ) लगातार 20 साल तक कोर्ट और कानून की ऑंखों में धूल झोंक कर भारी भरकम रिश्वत और भ्रष्टाचार की विष्ठा खा र...