शनिवार, 9 जनवरी 2021

ठाठीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना का कार्य शीघ्र प्रारंभ होगा , प्रथम चरण में 798 आवासों का निर्माण होगा, पूर्व कलेक्टर मुरैना एवं हाउसिंग बोर्ड आयुक्त भरत यादव की उपस्थिति में परियोजना की हुई बैठक

ठाठीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना को हाउसिंग बोर्ड शीघ्र कार्य प्रारंभ करेगा। प्रथम चरण में 798 आवासों का निर्माण होगा। इसके साथ ही स्कूल और ऑफिस परिसर भी विकसित किया जायेगा। मध्यप्रदेश हाउसिंग बोर्ड के आयुक्त श्री भरत यादव की उपस्थिति में संभागीय आयुक्त श्री आशीष सक्सेना एवं कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने परियोजना के संबंध में कलेक्ट्रेट कार्यालय में बैठक ली और संबंधित विभागीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए।
    शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में ठाठीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना के संबंध में एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। बैठक में हाउसिंग बोर्ड के आयुक्त श्री भरत यादव ने बताया कि ठाठीपुर में बहुप्रतीक्षित परियोजना के तहत हाउसिंग बोर्ड द्वारा तीन चरणों में कार्य किया जाना है। प्रथम चरण में हाउसिंग बोर्ड द्वारा 798 आवासों का निर्माण करने के साथ ही स्कूल भवन एवं ऑफिस परिसर का निर्माण किया जायेगा। यह कार्य शीघ्र ही प्रारंभ होगा।
    बैठक में बताया गया कि 30.06 हैक्टेयर क्षेत्र में यह परियोजना कार्य करेगी। प्रथम चरण में आवासों के निर्माण हेतु 235 शासकीय आवासों को खाली कराया जायेगा। आवासों में रहने वाले लोगों के लिये अन्यत्र व्यवस्था की जायेगी। हाउसिंग बोर्ड की ओर से उन्हें किराया देने का भी प्रावधान होगा। प्रथम चरण में काम करने के पश्चात द्वितीय एवं तृतीय चरण में भी कार्य किया जायेगा।
    संभागीय आयुक्त श्री सक्सेना ने बैठक में कहा कि हाउसिंग बोर्ड द्वारा ठाठीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना के तहत जो कार्य किया जाना है उसके लिये लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री, उस क्षेत्र के शासकीय भवनों की पूरी रिपोर्ट तीन दिन में प्रस्तुत करें। इसके साथ ही नगर निगम एवं वन विभाग संयुक्त रूप से उस क्षेत्र में आने वाले वृक्षों का सर्वेक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होंने हाउसिंग बोर्ड के अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया कि वृक्ष कटाई के लिये वे विधिवत आवेदन नगर निगम में प्रस्तुत करें। इसके साथ ही आवास निर्माण की अनुमति के लिये भी विधिवत आवेदन प्रस्तुत किया जाए।
    बैठक में सर्वसम्मति से तय किया गया कि पुनर्घनत्वीकरण योजना के क्रियान्वयन से जो पेड़ हटाए जाना आवश्यक होंगे उनके स्थान पर सिरोल पहाड़ी पर वृक्षारोपण का कार्य विभाग करे। यह भी तय किया गया कि योजना के तहत स्कूल का निर्माण पहले किया जाए ताकि पुराने स्कूल भवन को हटाने से पूर्व नया भवन बनकर तैयार हो जाए।
    कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि ग्वालियर की यह बहुत ही महत्वपूर्ण परियोजना है। इसके क्रियान्वयन में आने वाली समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु एडीएम की अध्यक्षता में उप समिति भी गठित की जायेगी। जिसमें नगर निगम, लोक निर्माण विभाग, विद्युत, वन एवं अन्य विभागीय अधिकारियों को रखा जायेगा। यह समिति समय-समय पर आने वाली समस्याओं के निराकरण की पहल करेगी। उन्होंने आश्वस्त किया कि परियोजना क्षेत्र में आने वाले शासकीय मकानों को खाली कराने का कार्य तत्परता से किया जायेगा। आवासों में रहने वाले सभी लोगों को उचित स्थान भी उपलब्ध कराया जायेगा।
    हाउसिंग बोर्ड के आयुक्त श्री भरत यादव ने बताया कि इस महत्वपूर्ण परियोजना को तेजी से पूर्ण करने हेतु हाउसिंग बोर्ड कटिबद्ध है। इस परियोजना के बन जाने से ठाठीपुर क्षेत्र के विकास में एक नया अध्याय जुड़ेगा। यहाँ लोगों को अच्छे आवास उपलब्ध होंगे। आवास उपलब्ध कराने के साथ-साथ व्यवसायिक गतिविधियों को भी उचित स्थान दिया जायेगा।
    बैठक में अपर कलेक्टर श्री आशीष तिवारी, प्रभारी नगर निगम आयुक्त श्री नरोत्तम भार्गव, ग्वालियर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री ए के गौर, संयुक्त संचालक नगर एवं ग्राम निवेश श्री बी के शर्मा, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग, जिला शिक्षा अधिकारी श्री संजय जोशी सहित हाउसिंग बोर्ड और अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।  

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी: केवल इस ब्लॉग का सदस्य टिप्पणी भेज सकता है.

केंद्रीय मंत्री का चंबल पर भव्य स्वागत , केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने की अगवानी , भव्य रोड रथ पर रोड शो किया

  देश और प्रदेश का विकास ही मुख्य मकसद - केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री सिधिंया  मुरैना 22 सितम्बर 2021/केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ...