मंगलवार, 24 नवंबर 2020

खनिज वनोपज परिवहन शुल्क से 10 गुना ज्यादा मिला राजस्व

 प्रदेश में प्रमुख तथा गौण खनिज वनोपज के परिवहन के जारी अनुज्ञा पत्रों के शुल्क से वन विभाग को इस वित्त वर्ष में अब तक 173 करोड़ 77 लाख रुपये राजस्व की प्राप्ति हुई है। पिछले वर्ष की तुलना में दस गुना ज्यादा है। गत वर्ष इसी अवधि में 17 करोड़ 71 लाख रुपये का राजस्व मिला था।

   राज्य शासन द्वारा मार्च 2020 में जारी अधिसूचना लाइम स्टोन, डोलोनामाइट, फायर क्ले, मैंगनीज (अयस्क), कॉपर (अयस्क), रॉक फास्फेट, पायरोफिलाईट, डायास्पोर, ऑकर बाक्साइट, आयरन (अयस्क), केलसाईट, कोयला, क्वार्टस, सिलिका, सेंड शेल, स्लेट और सोप स्टोन परिवहन के लिए अभिवहन अनुज्ञा-पत्र जारी करने के लिये 57 रुपये प्रति टन तथा फ्लेग स्टोन, ग्रेनाइट, मार्बल एवं मिट्टी पत्थर के लिये 33 रुपये प्रति घन मीटर शुल्क निर्धारित किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी: केवल इस ब्लॉग का सदस्य टिप्पणी भेज सकता है.

केंद्रीय मंत्री का चंबल पर भव्य स्वागत , केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने की अगवानी , भव्य रोड रथ पर रोड शो किया

  देश और प्रदेश का विकास ही मुख्य मकसद - केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री सिधिंया  मुरैना 22 सितम्बर 2021/केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ...