मंगलवार, 24 अगस्त 2021

मुस्लिम संगठनों की मांग पर पीएफआई पर प्रतिबंध लगाने पर ली जा रही हैं राय : गृह मंत्री डाक्टर नरोत्तम मिश्रा


गृह मंत्री ने ओवैसी को दी नसीहत

भोपाल

 हिंसा फैलाने और साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के लिए कई बार जिम्मेदार साबित हो चुके पीपुल्स फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) पर प्रतिबंध लगाने की मुस्लिम संगठनों की मांग पर सरकार कानूनी सलाह ले रही है। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को मीडिया से चर्चा में यह बात कही। उन्होंने एआईएमआईएम के प्रमुख व सांसद असदुद्दीन ओवैसी को मध्यप्रदेश में दखल नही देने की नसीहत देते हुए कहा है कि यहां कानून का राज चलता है।

 इंदौर में चूड़ी वाले युवक की पिटाई के बाद लोगों को भड़काने का आरोप  पीएफआई पर लगाया जा रहा है। पुलिस की जांच में भी पीएफआई संगठन से जुड़े कुछ लोगों के नाम लोगों को भड़काने में सामने आए हैं। सोमवार को मुस्लिम समाज के लोगों ने गृह मंत्री डॉ. मिश्रा को आवेदन सौंपकर पीएफआई संगठन पर प्रदेश में प्रतिबंध लगाने की मांग की। गृह मंत्री ने कहा कि उनकी मांग को शासन ने गंभीरता से लिया है और  प्रक्रिया शासन स्तर पर विचाराधीन है।
 
 इंदौर घटना पर  एआईएमआईएम पार्टी के नेता व हैदराबाद से सांसद असउद्दीन ओवैसी के ट्वीट पर गृह मंत्री डॉ.  मिश्रा ने ओवैसी को सलाह दी है कि मध्य प्रदेश के मामलों में हस्तक्षेप न करें, यहां कानून का राज चलता है। किसी को वैमन्सयता फैलाने नहीं दी जाएगी। युवक ने अपराध किया, उसके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। वहीं जिन लोगों ने युवक के साथ मारपीट की है, उन लोगों के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तारी की जा रही है। एक से अधिक पहचान पत्र रखने के साथ अपना नाम और वल्दियत को छुपाना अपराध हैं। इस अपराध को सही साबित करने की कोशिश करना भी अपराध की श्रेणी में ही आता है। ऐसे लोगों के विरुद्ध कानूनन सख्त कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।



 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी: केवल इस ब्लॉग का सदस्य टिप्पणी भेज सकता है.

सार्वजनिक सूचना विज्ञप्ति - न्यायालय प्रथम व्यवहार न्यायाधीश वर्ग -1 जिला मुरैना म.प्र. , जिला एवं सत्र न्यायालय मुरैना मध्यप्रदेश

  In the Court Of Chief Judicial Magistrate, District Morena Presiding Officer : श्री राजीव राव गौतम आवेदन अंतर्गत धारा 372 भारतीय ...